मुख्यमंत्री ने केन्द्र सरकार को लिखा पत्र,4140 करोड़ रूपए की खनिज राॅयल्टी देने की मांग

केन्द्रीय कोयला खान एवं संसदीय कार्यमंत्री  प्रहलाद जोशी को भेजा गया पत्र,

रायपुर(khabarwarrior) मुख्यमंत्री भूपेश बघेल छत्तीसगढ़ में संचालित कोयला खदानों से निकाले गये कोयले की 4140.21 करोड़ रूपये एडिशनल लेवी की राशि यथाशीघ्र उपलब्ध कराने की मांग की है।

मुख्यमंत्रीने केन्द्रीय कोयला खान एवं संसदीय कार्यमंत्री  प्रहलाद जोशी को भेजे गये पत्र में भारतीय संविधान में उल्लेखित प्रावधानों, खनिज अधिनियम और माननीय उच्चतम न्यायालय द्वारा इस संबंध में पारित आदेश का भी जिक्र किया ।

खनिज पर राज्य सरकार के स्वामित्व होने तथा खनिजों पर राज्य सरकार द्वारा राॅयल्टी, लेव्ही एवं अन्य कर वसूलने के प्रावधान का उल्लेख करते हुए राज्य हित में एडिशनल लेव्ही की राशि लगभग चार हजार 140.61 करोड़ रूपये  यथाशीघ्र राज्य सरकार को उपलब्ध कराने का आग्रह किया है।

मुख्यमंत्री ने पत्र में माननीय उच्चतम न्यायालय द्वारा छत्तीसगढ़ राज्य में संचालित कोल ब्लाॅक से निकाले गये और निकाले जाने वाले कोयले की एडिशनल राॅयल्टी की राशि को राज्य सरकार को देय होना चाहिए संबंधी पारित आदेश का भी उल्लेख किया है।

पत्र में छत्तीसगढ़ सरकार को राॅयल्टी देने के संबंध में कोयला मंत्रालय भारत सरकार को पिछले पांच सालों में भेजे गये पत्रों का भी उल्लेख किया है। छत्तीसगढ़ से आठ कोल आबंटियों द्वारा 295 रूपये प्रति मीट्रिक टन की दर से एडिशनल लेव्ही की राशि भारत सरकार के कोल मंत्रालय के पास जमा की गई है।

इनमें जायसवाल निको लिमिटेड द्वारा 112.35 करोड़ रूपये, जिंदल पावर लिमिटेड द्वारा 1185.20 करोड़ रूपये।जिंदल स्टील एंड पावर लिमिटेड द्वारा 2082.23 करोड़ रूपये।मोनेट इस्पात लिमिटेड द्वारा 238.09 करोड़ रूपये।

प्रकाश इण्डस्ट्रीज लिमिटेड द्वारा 234.22 करोड़ रूपये, आरएपीएल (सारडा एनर्जी लिमिटेड) 142.63 करोड़ रूपये और राजस्थान राज्य विद्युत उत्पादन निगम लिमिटेड द्वारा 145.49 करोड़ रूपये की एडिशनल लेव्ही जमा की गई है।

बघेल ने इन संस्थानों द्वारा जमा की गई राशि को छत्तीसगढ़ सरकार को उपलब्ध कराने की कार्रवाई करने का आग्रह किया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.