30 हजार जरूरतमंद परिवारों तक भोजन पहुंचाएगा रायपुर नगर निगम

Raipur Municipal Corporation will provide food to 30 thousand needy families,

रायपुर(खबर वारियर)कोविड 19 के रोकथाम और नियंत्रण की मुहीम के तहत चल रहे लॉकडाउन के दौरान रायपुर शहरी क्षेत्र के तीस हजार जरूरतमंद परिवारों तक निःशुल्क खाद्यान्न सामग्री प्रदाय किए जाने की मानवीय पहल रायपुर नगर निगम द्वारा प्रारंभ कर दी गई है।

जरूरतमंद परिवारों को नगर निगम द्वारा निर्धारित मात्रा में प्रति परिवार के मान से चावल, दाल, तेल, मसाला सहित अन्य खाद्यान्न सामग्री निःशुल्क उपलब्ध कराए जाने की व्यवस्था मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की पहल पर शुरू की गई है।

मुख्यमंत्री ने किया शुभारम्भ

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने विपदा की इस घड़ी में जरूरतमंदों की निःशुल्क मदद की इस सेवा का विधिवत शुभारंभ आज अपने निवास कार्यालय से राशन सामग्री के पैकेट के वितरण करते हुए किया।

इस मौके पर मुख्यमंत्री ने नगर निगम रायपुर की इस पहल की सराहना की और इसे पूरे प्रदेश के लिए अनुकरणीय बताया।

मुख्यमंत्री ने उम्मीद जताई कि संकट की इस घड़ी में कोई भी जरूरतमंद परिवार भूखा नहीं रहेगा। उनकी जरूरत का सामान शासन-प्रशासन, स्वयंसेवी, समाजसेवी संस्थाओं एवं छत्तीसगढ़ के दानदाताओं की मदद से उन तक जरूर पहुंचेगा।

नगर निगम रायपुर द्वारा शुरू की गई इस पहल के अंतर्गत प्रत्येक जरूरतमंद परिवारों को चावल, दाल, तेल, मसाले, आलू, आटा, दूध का पैकेट, मास्क, साबुन आदि रायपुर में निवासरत सभी दिहाड़ी मजदूर परिवारों को तथा बिना राशन कार्डधारी परिवारों को वितरित किया जा रहा है।

निःशुल्क राशन वितरण की जिम्मेदारी संबंधित वार्डों के पार्षदों, जोन कमिश्नरों एवं वार्ड कर्मियों को सौंपी गई है, जो अपनी निगरानी में जरूरतमंद परिवारों को खाद्यान्न सामग्री का पैकेट उपलब्ध कराने में सहयोग करेंगे।

नगर निगम के महापौर एजाज ढेबर ने बताया कि रायपुर नगर निगम क्षेत्र अंतर्गत दिहाड़ी मजदूरी करने वाले एवं बिना राशन कार्डधारी लगभग 3000 परिवारों का चिन्हांकन कर उन्हें निःशुल्क खाद्यान्न का वितरण शुरू कर दिया हैं।

उन्होंने बताया कि खाद्यान्न वितरण के दौरान भी कोरोना वायरस के संक्रमण की रोकथाम के लिए लोगों के आवश्यक जानकारी देने के साथ ही उन्हें सतर्कता बरतने की हिदायत दी जा रही है। लोगों से अपने रोजमर्रा के कामकाज के दौरान भी सोशल डिस्टेन्स का पालन करने की अपील की जा रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.