पुलिस-नक्सली मुठभेड़:एक वर्दीधारी महिला सशस्त्र माओवादी ढेर,

नारायणपुर(khabarwarrior)जिला नारायणपुर में नक्सल उन्मूलन अभियान अंतर्गत आज  थाना छोटेडोंगर क्षेत्रांतर्गत कैम्प कड़ेमेटा से डीआरजी, छसबल एवं एसटीएफ की संयुक्त पुलिस पार्टी बुरगुम की ओर एरिया डॉमिनेशन के लिए रवाना हुई थी।

करीबन 08:00 बजे पुलिस पार्टी Kademeta-Burgum jungle पहुंची थी कि पूर्व से ही एम्बुश लगाकर बैठे बस्तर डिवीजन माओवादी नक्सलियों की स्मॉल एक्शन टीम द्वारा पुलिस पार्टी को जान से मारने की नीयत से आईईडी ब्लास्ट कर अंधाधुंध फायरिंग करने लगे।

पुलिस पार्टी द्वारा भी तत्काल पोजिशन लेकर आत्मरक्षार्थ जवाबी फायरिंग किया गया। पुलिस पार्टी द्वारा नक्सलियों के एम्बुश को भेदकर जवाबी कार्यवाही किया गया, पुलिस पार्टी को भारी पड़ता देख नक्सली नदी, जंगल-पहाड़ का फायदा उठाकर भाग गए।

 तकरीबन 45 मिनट तक चले इस मुठभेड़ उपरान्त सुरक्षाबलों द्वारा घटना स्थल की सर्चिंग के दौरान 01 महिला नक्सली को मार गिराने एवं एसएलआर रायफल मय टेलीस्कोप 01 नग, मैग्जीन 01 नग, एसएलआर कारतूस 15 नग, 303 कारतूस 10 नग, एसएलआर खोखा 03 नग, 12 बोर बंदूक 01 नग, 12 बोर कारतूस 03 नग, 12 बोर खाली खोखा 04 नग, मोटोरोला वाकीटॉकी 01 नग, बैटरी सेल 08 नग (जुड़ा हुआ), बिजली वायर 01 बंडल, पोच 01 नग, पानी जरकीन 03 नग, टोपी 01 नग, दवाईयां एवं अन्य दैनिक उपयोगी सामग्री बरामद किया गया।

पुलिस-नक्सली मुठभेड़ के दौरान किये गये आईईडी ब्लास्ट से डीआरजी के जवान प्र.आर. 124 राजकुमार सोरी के बांये जांघ व बांह में चोट लगने से घायल हो गये तथा 22वीं वाहिंनी छसबल ‘ए’ कंपनी के जवान आरक्षक 374 बालकुमार बघेल, कैम्प कडे़मेटा के बांये बांह में गोली लगने से घायल हो गए।

घायल जवानों को तत्काल प्राथमिक उपचार कर कैम्प कड़ेनार लाया गया, जहां हेलीकॉप्टर के माध्यम से बेहतर उपचार हेतु रामकृष्ण केयर अस्पताल, रायपुर रवाना किया गया। वर्तमान में दोनों घायल जवानों की स्थिति सामान्य है।

मृत महिला नक्सली की पहचान रनाय निवासी ओंगनार थाना बेनूर, पूर्व बस्तर डिवीजन सप्लाई टीम कमाण्डर (एरिया कमेटी सदस्य) के रूप में की गई, जो वर्ष 2007 में नक्सली संगठन में शामिल होकर बयानार एरिया कमेटी एवं पूर्व बस्तर डिवीजन में सक्रिय रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.