कोरोना वायरस के खिलाफ युद्ध में, ग्राम बोरई के किसानों ने पेश की मिसाल

प्राकृतिक आपदा के कारण हुई फसल क्षति की मिली राहत राशि से 51 हजार रूपये मुख्यमंत्री आपदा राहत कोष में सहयोग के रूप में किए जमा,

दुर्ग(खबर वारियर)वैश्विक महामाही कोरोना वायरस के संक्रमण से छत्तीसगढ़ भी अछूता नहीं है, संक्रमण रोकने के लिये राज्य सरकार हर संभव प्रयास कर रही है, वहीं सरकार पर खर्च का अतिरिक्त भार आ गया है। किसान  भी कोरोनावायरस व प्राकृतिक आपदा से बुरी तरह प्रभावित हैं।

रबी फसलों तथा उद्यनिकी फसलों को व्यापक क्षति  हुई ,तथा कीमत व बाजार नही होने से आर्थिक नुकसान भी सहन करना पड़ रहा है। बावजूद किसान स्थिति से निपटने सरकार को हर संभव मदद करने को तैयार हैं।

पूरी स्थिति को ध्यान में रखते हुए छत्तीसगढ़ प्रगतिशील किसान संगठन की प्रेरणा से दुर्ग ब्लाक के बोरई गांव के किसानों ने कोरोना वायरस के खिलाफ युद्ध में सरकार का साथ देने का अहम निर्णय लिया।

इस साल मौसम की प्रतिकूलता के कारण किसानों के फसल को व्यापक क्षति हुई थी राज्य सरकार ने आरबीसी 6-4 के अंतर्गत प्रभावित किसानों को राहत राशि प्रदान किया था ।

बोरई गांव के सरपंच के सहयोग से किसानों ने राहत राशि में से 51 हजार रूपये चंदा इकट्ठा करके मुख्यमंत्री राहत कोष में जमा करने के लिये राज्य के गृहमंत्री ताम्रध्वज साहू को चेक प्रदान किया।

इस अवसर पर छत्तीसगढ़ प्रगतिशील किसान संगठन के जिला अध्यक्ष उत्तम चंद्राकर, दुर्ग ब्लाक अध्यक्ष परमानंद यादव, डा. टीकम साहू और कांति देशमुख मौजूद थे ।

Leave a Reply

Your email address will not be published.