देश सेना के साथ लेकिन मोदी जी से सवालों के जवाब चाहिये-शैलेश

रायपुर(khabarwarrior)देश के 20 से अधिक जवानों की शहादत पर श्रद्धांजलि व्यक्त करते हुए छत्तीसगढ़ प्रदेश कांग्रेस संचार विभाग के अध्यक्ष शैलेश नितिन त्रिवेदी ने कहा है कि कांग्रेस पार्टी सहित पूरा देश सेना के साथ है। उन्होंने कहा है कि जिस तरह से चीन की सेना पीपुल्स लिबरेशन आर्मी ने भारतीय सीमा में घुसकर भारतीय जवानों को बेहरमी से मारा है उस पर कई सवाल खड़े हैं और प्रधानमंत्री को इन सवालों के जवाब ख़ुद उपस्थित होकर देने चाहिए।

प्रदेश कांग्रेस संचार विभाग के अध्यक्ष शैलेश नितिन त्रिवेदी ने कहा है कि भारत की सीमा की रक्षा कर रहे एक एक जवान की जान क़ीमती है और एक शहादत भी देश की जनता को व्यथित करती है. गवलान घाटी में जिस कायरता से चीन ने भारतीय सेना के जवानों को मारा और घायल किया है वह दुखद है. उन्होंने कहा है कि अभी एक एक जवान का पार्थिव शरीर तिरंगे में लिपटा हुआ अपने घर पहुंचेगा आज पूरे देश की आंखो में आंसू है।

कांग्रेस संचार विभाग के अध्यक्ष शैलेश नितिन त्रिवेदी ने कहा है कि इस शहादत ने कई सवाल खड़े किए हैं और इन सवालों के जवाब देश जानना चाहता है. उन्होंने कहा है कि देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी ने पिछले कई दिनों से मौन साधे बैठे हुए थे। वे आज ले देकर देश की जनता के सामने उपस्थित तो हुये है। लेकिन सवालों के जवाब नहीं आये।

प्रदेश कांग्रेस संचार विभाग के अध्यक्ष शैलेश नितिन त्रिवेदी ने कहा है कि प्रधानमंत्री को बताना चाहिए कि अब तक भारत सरकार चीनी घुसपैठ से क्यों इनकार कर रही थी, जबकि लगातार जानकारी आ रही थीं कि चीनी सेना भारत की सीमा में 60 किलोमीटर तक घुस आई हैं।

चीनी सेना ने भारतीय जवानों के साथ जो बर्बरता पूर्वक कार्रवाई की है उस पर केंद्र सरकार की क्या प्रतिक्रिया है और वह क्या जवाबी कार्रवाई करने जा रही है। चीन के साथ कूटनीतिक संबंधों पर सवाल खड़े करते हुए उन्होंने कहा है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी चीन के साथ जैसी आत्मीयता दिखाते रहे हैं वह अभूतपूर्व है क्योंकि वह अकेले भारतीय राजनेता हैं जिन्होंने चीन की नौ यात्राएं की हैं और जिन्होंने चीन के राष्ट्र प्रमुख के साथ अंतरंग क्षण बिताए हैं. इन्हीं संबंधों की वजह से चीन को भारत सरकार की ओर से सड़क निर्माण का ठेका दिया गया और चीनी सामान के आयात पर उदारता दिखाई गई.।

उन्होंने पूछा है कि यदि इस आत्मीयता के बाद भी अगर चीन ऐसे हमले कर रहा है तो यह क्या मोदी सरकार की राजनयिक और कूटनीतिक विफलता नहीं है?

कांग्रेस संचार विभाग के अध्यक्ष शैलेश नितिन त्रिवेदी ने कहा है कि यह संयोग नहीं है कि इसी समय नेपाल ने अपनी संसद में एक ऐसा नक्शा पारित किया जिसमें भारतीय भूमि को नेपाल का हिस्सा बताया गया है।

उन्होंने कहा है कि नेपाल हमेशा भारत के साथ रहा है लेकिन नरेंद्र मोदी सरकार की ग़लत नीतियों की वजह से वह लगातार चीन की ओर गया है और नेपाल जैसा देश आज भारत को आंख दिखा रहा है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से इन महत्वपूर्ण मुद्दो पर चुप्पी तोड़ने का अनुरोध करते हुए प्रदेश कांग्रेस संचार विभाग के अध्यक्ष शैलेश नितिन त्रिवेदी ने कहा है कि यह समय देश के लिए भावुकता के साथ क्रोध का भी है. देश के मुखिया होने के नाते वे चुप न रहें और देश को जानकारी दें कि क्यों चीन और नेपाल के साथ भारत के कूचनीतिक संबंध इतने ख़राब हो गए कि भारत से दोनों देशों के रिश्ते इतने तल्ख़ हो गए हैं।

उन्होंने कहा है कि देश जानना चाहता है कि केंद्र की भाजपा सरकार चीन के इस बर्बर हमले के खिलाफ क्या क़दम उठाने जा रही है।

संचार विभाग के अध्यक्ष शैलेश नितिन त्रिवेदी ने कहा है कि भारत की सरहदों पर ऐसी स्थिति कभी नहीं रही। गलवान घाटी 1962 से भारत के पास है। भारत चीन सीमा विवाद में 23 विवादग्रस्त क्षेत्रों में भी गलवान घाटी नहीं है। मोदी सरकार ने बार-बार भरोसा दिलाया की सब कुछ ठीक है लेकिन अंततः हकीकत कुछ और निकली। देश आज मोदी सरकार द्वारा सच को लगातार नकारने की कीमत चुका रहा है।

प्रदेश कांग्रेस संचार विभाग के अध्यक्ष शैलेश नितिन त्रिवेदी ने कहा है कि देश सुरक्षित हाथों में नहीं है। अर्थव्यवस्था, बेरोजगारी पर लगाम, कोरोना की रोकथाम जैसे महत्वपूर्ण मोर्चों पर विफल मोदी सरकार से अब सरहदो की रक्षा भी नहीं हो पा रही है।