देश की पहली कोविड-19 वैक्‍सीन ‘कोवैक्सिन’ को मानवीय परीक्षण की मिली मंज़ूरी

रायपुर(khabarwarrior) भारत बायोटेक, भारतीय चिकित्सा अनुसंधान परिषद (आईसीएमआर) और नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ विरोलॉजी (एनआईवी) ने मिलकर कोविड-19 के लिए देश के पहले वैक्सीन कैंडिडेट ‘कोवैक्सीन‘ को सफलतापूर्वक विकसित कर   लिया है।

भारत बायोटेक की तरफ से जारी एक बयान में कहा गया है कि सार्स-सीओवी-2 स्ट्रेन को पुणे स्थित एनआईवी में अलग किया गया और उसे भारत बायोटेक को हस्तांतरित किया गया. घरेलू इनएक्टिवेटेड वैक्सीन को हैदराबाद के जीनोम वैली में स्थित भारत बायोटेक के बीएसएल-3 (बायो-सेफ्टी लेवल 3) हाई कंटेनमेंट फैसिलिटी में विकसित किया गया और विनिर्मित किया गया।

ड्रग कंट्रोलर जनरल ऑफ इंडिया, सेंट्रल ड्रग्स स्टैंडर्ड कंट्रोल ऑर्गनाइजेशन (सीडीएससीओ), स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय ने फेस-1 और फेस-2 ह्यूमन क्लीनिकल ट्रायल शुरू करने की अनुमति दे दी है. इसके पहले कंपनी ने प्रीक्लीनिकल स्टडीज से प्राप्त परिणाम सौंपे थे. ह्यूमन क्लीनिकल ट्रायल अगले महीने पूरे भारत में शुरू होने वाले है