प्रदेश में स्व. बिसाहूदास मंहत बुनकर पुरस्कार योजना फिर होगी शुरू: सीएम भूपेश बघेल ने की घोषणा

रायपुर(ख़बर वारियर)मुख्यमंत्री  भूपेश बघेल ने महान स्वतंत्रता संग्राम सेनानी स्व. श्री बिसाहू दास महंत की आज पुण्यतिथि पर प्रदेश में स्व. बिसाहू दास मंहत सर्वश्रेष्ठ बुनकर पुरस्कार योजना फिर से शुरू करने की घोषणा की है।

गौरतलब है कि छत्तीसगढ़ सरकार द्वारा प्रदेश में बुनकरों को प्रोत्साहित करने के लिए श्रेष्ठ बुनकरों को यह पुरस्कार प्रदान किया जाएगा।

मुख्यमंत्री ने  बिसाहू दास महन्त की पुण्यतिथि पर अर्पित की  विनम्र श्रद्धांजलि

सीएम भूपेश बघेल ने महान स्वतंत्रता संग्राम सेनानी स्वर्गीय श्री बिसाहू दास महन्त की पुण्यतिथि पर उनके चित्र पर माल्यार्पण कर उन्हें विनम्र श्रद्धांजलि अर्पित की। बघेल ने अपने निवास कार्यालय में स्वर्गीय श्री महंत को श्रद्धा सुमन अर्पित किए।

मुख्यमंत्री ने स्व. महन्त को श्रद्धांजलि अर्पित करते हुए कहा है कि उनका पूरा जीवन जनसेवा से जुड़ा रहा। स्वतंत्रता संग्राम सेनानी के साथ-साथ सफल राजनेता के रूप में उनकी छवि रही है।

महन्त ने अविभाजित मध्यप्रदेश में विधायक तथा मंत्री के रूप में प्रदेश के विकास के लिए अपनी अमूल्य सेवाएं दी है। उन्होंने क्षेत्र में खेती-किसानी, सिंचाई तथा सड़कों के माध्यम से लोगों की बेहतरी के कार्यों को बखूबी अंजाम दिया।

 बघेल ने कहा कि स्वर्गीय श्री महन्त के बताये जनकल्याण के मार्ग पर चलकर प्रदेश में विकास को नये आयाम देने की दिशा में कार्य किए जा रहे हैं।

इस अवसर पर वरिष्ठ विधायक सत्यनारायण शर्मा, संसदीय सचिव  विकास उपाध्याय और शिशुपाल सोरी, छत्तीसगढ़ राज्य पाठ्य-पुस्तक निगम के अध्यक्ष शैलेष नितिन त्रिवेदी, छत्तीसगढ़ राज्य खनिज विकास निगम के अध्यक्ष  गिरीश देवांगन, छत्तीसगढ़ राज्य खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति निगम के अध्यक्ष  रामगोपाल अग्रवाल, छत्तीसगढ़ राज्य गृह निर्माण मंडल के अध्यक्ष कुलदीप जुनेजा, रायपुर विकास प्राधिकरण के अध्यक्ष सुभाष धुप्पड़, मुख्यमंत्री के सलाहकार  विनोद वर्मा और  राजेश तिवारी, महापौर  एजाज ढेबर और सभापति प्रमोद दुबे भी उपस्थित थे ।