Flying Sikh : “उड़न सिक्ख” मिल्खा सिंह का निधन, राष्ट्रपति, प्रधानमंत्री,मुख्यमंत्री सहित अनेक ने जताया दु:ख

डेस्क(khabar warrior)- Flying Sikh या उड़न सिक्ख के नाम से मशहूर धावक मिल्खा सिंह का निधन हो गया। वे 91 वर्ष के थे। कोरोना संक्रमण के चलते वे चंडीगढ़ के पीजीआई में भर्ती थे। देर रात उनके निधन की खबर आयी। उनका जन्म अविभाजित भारत में हुआ था जो अब पाकिस्तान है। इससे पहले उनकी पत्नी और भारतीय वॉलीबॉल टीम की पूर्व कप्तान निर्मल कौर ने भी कोरोना संक्रमण के कारण दम तोड़ दिया था। मिल्खा सिंह 91 साल के थे। उन्हें पद्मश्री से नवाजा जा चुका है। उनके परिवार में उनके बेटे गोल्फर जीव मिल्खा सिंह और तीन बेटियां हैं।

चार बार के एशियाई खेलों के स्वर्ण पदक विजेता मिल्खा ने 1958 राष्ट्रमंडल खेलों में भी गोल्ड मेडल हासिल किया था। मिल्खा सिंह ने 1956 और 1964 ओलंपिक में भी भारत का प्रतिनिधित्व किया। मैदान पर शानदार प्रदर्शन के लिए साल 1959 में पद्मश्री से नवाजा गया था।

उनके जीवन पर एक फिल्म बनी थी जिसका नाम था “भाग मिल्खा भाग” जो सुपर हिट रही थी। फरहान अख्तर ने इस फिल्म में मिल्खा सिह का किरदार निभाया था।

मिल्खा सिंह का निधन: फरहान अख्तर ने पर्दे पर जीवंत कर दिया था फ्लाइंग सिख का किरदार - Entertainment News: Amar Ujala

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी मिल्खा सिंह को श्रद्धांजलि देते हुए टि्वट किया, “मिल्खा सिंह जी के निधन से हमने एक महान खिलाड़ी खो दिया, जिसने देश की कल्पना पर कब्जा कर लिया और अनगिनत भारतीयों के दिलों में एक विशेष स्थान बना लिया। उनके प्रेरक व्यक्तित्व ने खुद को लाखों लोगों का प्रिय बना दिया। उनके निधन से आहत”

फ्लाइंग सिख' मिल्खा सिंह के निधन पर राष्ट्रपति, प्रधानमंत्री, गृहमंत्री समेत तमाम नेताओं ने जताया दुःख - President Kovind Prime Minister Modi expressed grief over death ...

“अभी कुछ दिन पहले ही मेरी मिल्खा सिंह जी से बात हुई थी। मुझे नहीं पता था कि यह हमारी आखिरी बातचीत होगी। कई नवोदित एथलीट उनकी जीवन यात्रा से ताकत हासिल करेंगे। उनके परिवार और दुनिया भर में कई प्रशंसकों के प्रति मेरी संवेदनाएं।”

राष्ट्रपति रामनाथ कोविद, गृहमंत्री अमित शाह, खेल मंत्री किरण रिजिजू, उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, पंजाब के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह सहित अनेक केन्द्रीय मंत्रियों, सहित सेना की तरफ से उनके निधन पर शोक व्यक्त किया गया।

 

एक लेखक का यह टि्वट मिल्खा सिंह के जीवन की सच्चाई है.