सुरक्षा उपायों की कमी से कोविड अस्पताल कैंपस के रहवासी दहशत में

रायपुर(khabarwarrior)राजधानी रायपुर के लालपुर स्थित भारत सरकार के क्षेत्रीय कुष्ठ प्रशिक्षण संस्थान कैंपस के रहवासी इन दिनों कोरोना की दहशत के बीच रहने मजबूर हैं,और इसकी वजह है,कैंपस में बने कोविड अस्पताल परिसर में अपर्याप्त सुरक्षा।

परिसर में स्थित कुष्ठ के 50 बेड के अस्पताल को इन दिनों राज्य सरकार द्वारा अधिग्रहित कर कोविड अस्पताल बनाया गया है। जहां एक टेस्टिंग लैब सहित मरीजों की भर्ती की व्यवस्था की गई है।

इसी परिसर में क्षेत्रीय कुष्ठ प्रशिक्षण संस्थान का प्रशासनिक कार्यालय व आईसीएमआर के अंतर्गत काम करने वाले मलेरिया अनुसंधान केंद्र तथा सीपीडब्लूडी के इलेक्टिकल एवम सिविल का कार्यालय भी है,और यहीं  स्टाफ के लिए क्वार्टर भी बना हुआ है जहाँ अभी 15-20 परिवार निवासरत हैं।
यहां के रहवासियों का कहना है कि कोविड अस्पताल पर उनको कोई आपत्ति नही है लेकिन परिसर में संक्रमण से बचने के उपाय नाकाफी लग रहे हैं। और इसी वजह से उन्हें संक्रमण का खतरा
महसूस हो रहा है और वे चिंतित हैं।

इनका कहना ही कि पूरे परिसर के लिए एक ही प्रवेश द्वार है,और अभी कोई रास्ता नहीं होने से अस्पताल की दीवार से लगी रोड वाली रास्ते से ही कार्यालय कर्मचारियों व अंदर के रहवासियों का आना जाना भी हो रहा है ,जिससे संक्रमण का खतरा भी बना हुआ है।

इस खतरे को ध्यान में रखते हुए कोविड हॉस्पिटल को पूर्णतः बैरिकेटिंग कर अलग से गेट बनाकर सेपरेट कवर्ड कर संक्रमण से बचने के पुख्ता इंतेजाम किए जाने चाहिए। जिससे यहां के रहवासी अपने आपको सुरक्षित महसूस कर सकें।