मुख्यमंत्री से छत्तीसगढ़ कर्मचारी-अधिकारी फेडरेशन के प्रतिनिधिमंडल ने की सौजन्य मुलाकात

रायपुर(खबर वारियर)मुख्यमंत्री भूपेश बघेल सेे  उनके निवास कार्यालय में छत्तीसगढ़ कर्मचारी-अधिकारी फेडरेशन के प्रांतीय संयोजक कमल वर्मा के नेतृत्व में विभिन्न कर्मचारी-अधिकारी संगठनों के प्रांताध्यक्षों ने सौजन्य मुलाकात की।

प्रतिनिधिमंडल ने मुख्यमंत्री को प्रदेश के कर्मचारियों-अधिकारियों की विभिन्न मांगों से संबंधित ज्ञापन सौंपा।

5 सूत्रीय मांग पत्र में प्रमुख रूप से जुलाई 2019 से लंबित 09 प्रतिशत् मंहगाई भत्ता प्रदान करने, पूर्व में लिए गए निर्णयानुसार 7 वें वेतनमान् के एरियर्स का भुगतान करने, प्रदेश के सभी अधिकारी कर्मचारियों को पदोन्नति, क्रमोन्नति, एवं तृतीय समयमान् वेतनमान् का लाभ एक समय सीमा निर्धारित कर प्रदान करने, कोरोना संक्रमण में डयूटी करने वाले अधिकारी कर्मचारियों को कोरोना भत्ता देने, राजस्थान सरकार की तर्ज पर कोरोना डयूटी मृत शासकीय सेवकों के आश्रितों को 50 लाख रू. अनुग्रह राशि प्रदान करने तथा प्रदेश में तृतीय श्रेणी के अनुकंपा नियुक्ति संबंधी 10 प्रतिशत् सीमा बंधन समाप्त करना शामिल है।

मुख्यमंत्री से फेडरेशन के प्रतिनिधियों ने 05 सूत्रीय मांगपत्र सौपकर बिन्दुवार चर्चा की। मुख्यमंत्री ने दिपावली पूर्व कर्मचारी हित में उचित निर्णय लिये जाने का आश्वासन प्रतिनिधि मण्डल को दिया है। तत्पश्चात इस परिप्रेक्ष्य में 21 अक्टूबर  का प्रस्तावित आंदोलन स्थगित करने का निर्णय लिया गया है।

मुख्यमंत्री ने राज्य में कोरोना संकट के दौर में कर्मचारी-अधिकारियों के कर्मठ सहभागिता की सराहना भी की। इस अवसर पर फेडरेशन के आर.के.रिझारिया,  सतीश मिश्रा, संजय सिंह, पंकज पांडेय,  विजय झा, बी पी शर्मा, राकेश शर्मा, डॉ लक्ष्मण भारती, यशवंत वर्मा तथा अशोक रायचा आदि उपस्थित रहे।