छत्तीसगढ़ में तेजी से बढ़ रही कोरोना की रिकवरी दर,लेकिन याद रहे जब तक नहीं दवाई,तब तक नहीं ढिलाई

रायपुर(खबर वारियर) छत्तीसगढ़ में कोरोना संक्रमितों की रिकवरी दर में लगातार बढ़ोतरी हो रही है। विभिन्न कोविड अस्पतालों, आइसोलेशन सेंटरों और होम आइसोलेशन में इलाज करा रहे मरीज तेजी से स्वस्थ हो रहे हैं।

प्रदेश में पिछले एक सप्ताह (16 अक्टूबर से 22 अक्टूबर) में 16 हजार 649 लोगों ने कोरोना को मात दी है। प्रदेश में अब तक कुल एक लाख 43 हजार 212 मरीज ठीक हो चुके हैं। कोरोना संक्रमितों की पहचान के लिए रोजाना औसतन 22 हजार के करीब सैंपलों की जांच की जा रही है। कोविड-19 की पुष्टि के लिए प्रदेश में अब तक कुल साढ़े 16 लाख से अधिक सैंपलों की जांच की गई है। पिछले एक सप्ताह में ही एक लाख 51 हजार 392 व्यक्तियों की जांच की गई है।

प्रदेश में कोरोना पर विजय प्राप्त करने वाले कुल एक लाख 43 हजार 212 मरीजों में से 71 हजार 021 विभिन्न कोविड अस्पतालों व कोविड केयर सेंटरों से तथा 72 हजार 191 मरीज होम आइसोलेशन से डिस्चार्ज हुए हैं।

बीते एक हफ्ते में स्वस्थ हुए 16 हजार 649 में से 2928 ने कोविड अस्पतालों व आइसोलेशन सेंटरों में एवं 13 हजार 721 मरीजों ने होम आइसोलेशन में अपना इलाज कराया है। तेजी से स्वस्थ हो रहे मरीजों के कारण प्रदेश की रिकवरी दर भी लगातार बढ़ रही है।

वर्तमान में यहां रिकवरी दर 84.18 प्रतिशत हो गई है, जबकि मृत्यु दर 0.99 प्रतिशत है। रिकवरी एवं मृत्यु दर का राष्ट्रीय औसत क्रमशः 89.53 प्रतिशत और 1.51 प्रतिशत है। प्रदेश में पिछले एक सप्ताह के दौरान 16 अक्टूबर को 2539, 17 अक्टूबर को 2732, 18 अक्टूबर को 2077, 19 अक्टूबर को 2439, 20 अक्टूबर को 2288, 21 अक्टूबर को 1852 और 22 अक्टूबर को 2722 मरीज कोरोना से ठीक हुए हैं।

त्यौहारों की खुशी होगी दोहरी
जब होगा चेहरे पर मास्क और दो गज की दूरी

नवरात्रि में देवी मां की आराधना के लिए जैसे हम कुछ संकल्प लेते हैं नियमों का पालन करते हैं, व्रत करते हैं । वैसे ही इस दौरान कोरोना से जीतने के लिए भी कुछ नियम मानने होंगे ,तभी हम अपने परिवार के साथ खुशी -.खुशी त्यौहार मना पाएंगे।

जब भी बाहर जाएं,सही तरीके से मास्क लगाकर जो नाक और मुंह को अच्छी तरह से ढंके,दूसरों से दो गज की दूरी बनाएं, भीड़ में न जाएं और बीच-बीच में  साबुन से हाथ धोते रहें। इन नियमों का पालन करके ही हम सब मिलकर कोरोना के संक्रमण को कम कर पाएंगे।

विशेेषज्ञ बार -बार चेतावनी भी दे रहे हैं कि ठंड और प्रदूषण से कोरोना वायरस और फैल सकता है। हमें इसे हल्के में नही लेना चाहिए और उसी के अनुसार अपनी आदतें ,व्यवहार बदलना चाहिए ।