कोयले को लेकर उद्योगपतियों की बैठक 15 जनवरी को, दो साल का कोयला खरीदने का है दबाव

रायपुर(खबर वारियर)- दो साल का कोयला एक साथ लेने के लिए बनाए जा रहे दबाव को लेकर 15 जनवरी को उद्योगपतियों की बैठक कोल इंडिया कोलोकाता के उच्चाधिकारियों से होने वाली है। उद्योगपतियों का कहना है कि निश्चित रूप से इस बैठक में कोई न कोई नतीजा निकलेगा। बताया जा रहा है कि बुधवार दोपहर तीन बजे भी इस संबंध में उद्योगपतियों की बैठक कोल इंडिया के अधिकारियों से हुई और इसमें भी दोनों के बीच सकारात्मक चर्चाएं हुई।

गौरतलब है कि कोल इंडिया द्वारा दो साल का कोयला लेने का दबाव बनाया जा रहा था। इस पर उद्योगपतियों ने कोयला मंत्री प्रहलाद जोशी के साथ ही प्रदेश के खनिज सचिव को भी पत्र लिखा था। उद्योगपतियों का कहना है कि यह एक बहुत बड़ी समस्या है और इसका हल निकलना बहुत ही ज्यादा जरूरी है। दो साल का स्टाक रख पाना किसी भी उद्योगपति के लिए काफी मुश्किल है।

इस समय न तो बाजार में इतनी मांग है और न ही उद्योगों के पास इतनी जगह है कि वह स्टाक रख सकें। छत्तीसगढ़ स्पंज आयरन एसोसिएशन के अध्यक्ष अनिल नचरानी ने बताया कि 15 जनवरी को होने वाली बैठक में इस समस्या का हल निकलने की उम्मीद है।

सरिया 58 हजार पार

लौह अयस्क यानी आयरन ओर की बढ़ती कीमतों की वजह से सरिया की कीमतों में लगातार तेजी बनी हुई है। सरिया इन दिनों रिटेल में प्रति टन 58 हजार रुपये बिक रही है। वहीं, फैक्ट्रियों में भी सरिया 55,000 रुपये प्रति टन तक पहुंच गया है। क्षेत्र से जुड़े कारोबारियों का कहना है कि आयरन ओर की बढ़ती कीमतों को देखते हुए सरिया की कीमतों में और तेजी के आसार हैं।