झीरम घाटी के शहीद और पीड़ित लोगों के परिवार की सुध ले सरकार – संजीव अग्रवाल

रायपुर(खबर वारियर)- आरटीआई कार्यकर्ता काँग्रेस नेता संजीव अग्रवाल ने मीडिया के माध्यम से एक बेहद ही गंभीर विषय पर छत्तीसगढ़ की काँग्रेस की भूपेश सरकार का ध्यान आकर्षित करते हुए कहा है कि 2013 में झीरम घाटी में हुए दर्दनाक हादसे में शहीद हुए लोगों को आज तक इंसाफ़ नहीं मिला है। छत्तीसगढ़ की तत्कालीन भाजपा सरकार ने तो 5 साल तक इन लोगों की कोई सुध नहीं ली लेकिन पिछले दो सालों से छत्तीसगढ़ में काँग्रेस पार्टी की सरकार आने के बाद भी उन शहीदों को इंसाफ नहीं मिला। अब तक न ही उस हमले के दोषियों को सज़ा मिली है और न ही जिन सुरक्षाकर्मियों व काँग्रेसी कार्यकर्ताओं ने अपनी शहादत दी है उन्हें कोई इंसाफ़ मिला है।

संजीव अग्रवाल ने कहा कि झीरम घाटी कांड में शहीद हुए बड़े नेता और नामचीन हस्तियों को तो सम्मान मिला है लेकिन जो काँग्रेसी कार्यकर्ता, वाहन चालक और सुरक्षाकर्मी उस घटना में शहीद हुए थे उन्हें आजतक न कोई सम्मान मिला है और न ही उनके परिवारजनों को कोई सरकारी सहायता मुहैया कराई गई है।

संजीव अग्रवाल ने कहा कि कांग्रेस की भूपेश बघेल की सरकार बेहद ही संवेदनशील हैं और मैं छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल से अपील करता हूँ कि उन सुरक्षाकर्मियों, वाहन चालकों और काँग्रेस पार्टी के जांबाज कार्यकर्ताओं जिन्होंने उस निर्मम घटना में अपनी जान गवाई थी उनके नाम पर सम्मान योजनाएं चलाएं व उनके गृहनगर में प्रतिमाएँ लगाएँ और उनके परिवार को आर्थिक लाभ के साथ ही परिवार में से किसी एक व्यक्ति को नौकरी देवें। साथ ही जो लोग उस घटना में अपने घायल हो गए थे और आज भी अपने बदन में छर्रे लेकर जीवित हैं उनके लिए भी कोई सम्मान और व्यवस्था करें।