पेट्रोल-डीजल के बाद अब प्याज निकाल रहा जनता का ‘तेल’! जानिए कब घटेंगी कीमतें?

दिल्ली(खबर वारियर)- आपकी थाली से प्याज एक बार फिर गायब हो सकती है. बेमौसम बरसात और बेलगाम होती पेट्रोल-डीजल की कीमतों का ही असर है कि बीते कुछ हफ्तों में प्याज के दाम दोगुना से ज्यादा बढ़ चुके हैं. जो प्याज साल की शुरुआत में 25-30 रुपये किलो बिक रही थी, आज उसी प्याज के लिए 60 से 70 रुपये प्रति किलो चुकाने पड़ रहे हैं.

क्यों महंगा हो रहा है प्याज 

1. पिछले साल दिसंबर-जनवरी के दौरान हुई बेमौसम बरसात की वजह से महाराष्ट्र में किसानों की प्याज की फसल बर्बाद हो गई. प्याज नहीं होने से सप्लाई भी घटी जिसका असर अब कीमतों पर दिख रहा है. प्याज की कीमतें बीते कुछ हफ्तों में दोगुनी से भी ज्यादा बढ़ी हैं. गुरुवार को नवी मुंबई के APMC मार्केट में प्याज की केवल 80-90 गाड़ियां ही आईं, जबकि आम दिनों में 150 गाड़ियां आती थीं, यानी सप्लाई में 40 परसेंट तक की गिरावट आई है.

2. गुरुवार को APMC मार्केट में प्याज का थोक भाव में 30-40 रुपये प्रति किलो पर बिका. मुंबई, ठाणे और पुणे के रिटेल मार्केट में ये प्याज 50 रुपये से लेकर 60 रुपये प्रति किलो तक बिक रहा है. सप्लाई की दिक्कतों की वजह से देश की सबसे बड़ी थोक प्याज मंडी लासलगांव में प्याज का थोक रेट बीते 10 दिनों में 15 परसेंट से 20 परसेंट तक बढ़ा है. कंज्यूमर अफेयर्स मंत्रालय की वेबसाइट के मुताबिक कल रिटेल में प्याज का भाव 54 रुपये प्रति किलो है.

3. ट्रेडर्स का कहना है कि देर से आई खरीफ की फसल लगभग खत्म हो चुकी है. खरीफ की फसल जून से जुलाई के बीच बोई जाती है, जिसे नवंबर-दिसंबर में काटा जाता है. जब लेट खरीफ की बुआई अगस्त-अक्टूबर में होती है जिसे दिसंबर के बाद काटा जाता है. यही लेट फसल मार्केट में इस समय सप्लाई होती है, जिसमें कि ज्यादातर फसल बर्बाद हो चुकी है बारिश की वजह से सड़ चुकी है.

4. दूसरी ओर डीजल की कीमतों का लगातार बढ़ना भी एक बड़ी वजह है, क्योंकि माल ढुलाई महंगी हो गई है. जनवरी और फरवरी में 17 दिन ही पेट्रोल के दाम बढ़ाए गए है, लेकिन इसी दौरान दिल्ली में डीजल 4.51 रुपये प्रति लीटर महंगा हुआ है. 1 जनवरी को दिल्ली में डीजल का दाम 73.87 रुपये प्रति लीटर था, आज 78.38 रुपये है.

दिल्ली में भी प्याज महंगा 

महाराष्ट्र के बाद अब देश की राजधानी दिल्ली की बात करें तो यहां भी प्याज इस वक्त 50-60 रुपये किलो बिक रही है. गाज़ीपुर मंडी में प्याज के थोक दाम बढ़ने से प्याज महंगी हो गई है. यहां के व्यापारियों का कहना है की आम तौर पर यहां प्याज 30 से 35 रुपए किलो बिकती है, लेकिन अब  भाव 40 से 45 रुपए किलो हो गए हैं. महाराष्ट्र से भी सप्लाई कम आ रही है इसलिए कीमतें बढ़ना लाजिमी है.

कब तक सस्ता होगा प्याज? 

लासलगांव APMC की चेयरपर्सन सुवर्णा जगताप का कहना है कि दक्षिण भारतीय बाजारों से सप्लाई भी गिरी है और गुजरात, मध्य प्रदेश की सप्लाई ज्यादा नहीं है. इसके अलावा सरकार ने भी जनवरी में एक्सपोर्ट को खोल दिया है, जिससे कीमतें 1000 रुपये प्रति क्विंटल बढ़ गईं हैं. गर्मियों की नई प्याज मार्च के पहले हफ्ते में आना शुरू होगी, जिसके बाद कीमतें नीचे आने की उम्मीद है.