पानी के अंदर परमाणु हमला करने वाला ड्रोन, रूस ने तैयार किए ये सबसे खतरनाक हथियार

रूस को मिलिट्री सेक्‍टर का मास्‍टर माना जाता है और रूस ने दुनिया को एक से बढ़कर एक डिफेंस टेक्‍नोलॉजी से रूबरू करवाया है. अब जो कारनामा रूस ने किया है उसके बाद पूरा वॉरजोन ही बदल जाएगा. रूस ने अपना एक नया टैंक तैयार किया है और इस टैंक का नाम उदार है.

उदार कोई साधारण टैंक नहीं है बल्कि यह दुनिया का पहला ऐसा टैंक है जो पूरी तरह से अनमैन्‍ड होगा. उदार बिना ड्राइवर या फिर कमांडर के वॉरजोन में गतिविधियों को अंजाम दे सकता है. सिर्फ इतना ही नहीं यह टैंक बैटल जोन में ड्रोन से भी संपर्क कर सकता है.

नेवी को मिलेगा यह हथियार

रूस लगातार डिफेंस टेक्‍नोलॉजी सेक्‍टर में आगे बढ़ रहा है. रूस की नेवी ने एक ऐसे ड्रोन को टेस्‍ट करने वाली है जो पानी के अंदर भी परमाणु हमले को अंजाम देने में सक्षम है. विशेषज्ञों की मानें तो यह हथियार हिरोशिमा में गए परमाणु बुसे 133 गुना ज्‍यादा ताकतवर है.

पिछले वर्ष रूस के राष्‍ट्रपति व्‍लादीमिर पुतिन ने रूस के लिए अगली पीढ़ी के 6 ऐसे हथियारों को तैयार करने के बारे में ऐलान किया था जो देश के दुश्‍मन को मुंहतोड़ जवाब देने में सक्षम होंगे. रूस के अखबार इजवेस्तिया के मुताबिक नेवी की तरफ से खास ड्रोन को टेस्‍ट करने की तैयारी हो चुकी है.

खतरनाक हथियारों से लैस टैंक

इस टैंक को रूस ने सबसे पहले साल 2015 में दुनिया को दिखाया था. उस समय रूस के रक्षा मंत्रालय की तरफ से ‘इनोवेशन’ डे के मौके पर इसे पहली बार सबके सामने लाया गया था. उदार अनमैन्‍ड ग्राउंड व्‍हीकल (यूजीवी) बीएमपी-3 इनफेंट्री फाइटिंग व्‍हीकल पर आधारित है.

यह टैंक कई खतरनाक हथियारों से लैस है जिसमें 7.62 एमएम की पीकेएमटी मशीन गन से लेकर कॉरनेट-एम एटीजीएम तक शामिल है. इसके ऑपरेशनल प्रोटोटाइप को ऑल रशियन साइंटिफिक रिसर्च इंसटीट्यूट सिग्‍नल की तरफ से तैयार किया गया है.

आर्टिफिशियल इंटेलीजेंस वाला उदार

इसे तैयार करने से पहले विशेषज्ञों ने ऑटोनॉमस मोड में रोबोट की गतिविधियों से जुड़ी संभावनाओं को परखा था. रॉसटेक अर्मानेंट क्‍लस्‍टर इंडस्‍ट्रीयल के डायरेक्‍टर बेखम ओजीदोएव ने स्‍पूतनिक को बताया कि उदार एक ऐसा टैंक है जो आर्टिफिशियल इंटेलीजेंस से लैस है.

टैंक, सेंसर्स और दूसरी डिवाइसेज के जरिए डाटा इकट्ठा करता है. जो आंकड़ें मिलते हैं उसके बाद रोबोटा का रास्‍ता सेट किया जाता है. इसके दूसरे फीचर्स में इसके हथियार हैं जो सबसे ज्‍यादा ताकतवर हैं. इसमें दी गई 2A42 30 एमएम की ऑटोमैटिक बंदूक की फायरिंग रेंज 4,000 मीटर या 13,123 फीट है.

2000 राउंड फायरिंग की ताकत

इसके अलावा एक पीकेटी मशीन गन है जो 2000 राउंड से ज्‍यादा राउंट फायरिंग कर सकती है. इसके अलावा कॉर्नेट एंटी-टैंक गाइडेड मिसाइल है जिसकी रेंज 10 किलोमीटर से ज्‍यादा है. इसके अलावा इसमें इलेक्‍ट्रो-ऑप्टिकल इक्विपमेंट है जो कि फायर कंट्रोल सिस्‍टम के साथ है.