मंहगाई भत्ता के लिए आगे भी जारी रहेगा आंदोलन

चांपा जांजगीर शाखा ने विधानसभा अध्यक्ष को सौंपा स्मरण पत्र व ज्ञापन

रायपुर(khabar warrior)- छत्तीसगढ़ प्रदेश तृतीय वर्ग शासकीय कर्मचारी संघ द्वारा प्रदेश के शासकीय सेवकों को लंबित 04 किश्तों क्रमशः 01 जुलाई 2019 से 01 जुलाई 2021 तक देय मंहगाई भत्ता को तत्काल धोषणाकरते हुए देय तिथी से नगद भुगतान की मांग के लिए 01 जुलाई 2021 को प्रदर्शन उपरांत पूरे जुलाई माह में आंदोलन को जारी रखने तथा क्षेत्रीय जनप्रतिनिधियों को उनके क्षेत्र भ्रमण के दौरान स्मरण पत्र सौपने का निर्णय लिया गया है।

यह स्मरण-पत्र आंदोलन माह भर निरंतर जारी है। विधानसभा अध्यक्ष चरणदास महंत के चांपा जांजगीर भ्रमण के दौरान संघ के पदाधिकारियों ने उन्हें स्मरण पत्र सौपकर शीध्र मंहगाई भत्ता प्रदान करने हेतु भागीरथी प्रयास करने की अपील की है। साथ ही आदेश जारी होने तक स्मरण आंदोलन को आगामी 15 अगस्त तक बढ़ाने का निर्णय इसलिए लिया गय क्योंकि ध्वजारोहण हेतु जनप्रतिनिधि अपने-अपने क्षेत्र में भ्रमण करेगें।

संघ के प्रांतीय अध्यक्ष विजय कुमार झा एवं जिला शाखा अध्यक्ष इदरीश खाॅन ने बताया है कि संध द्वारा मंहगाई भत्ता की मांग की ओर शासन का ध्यान आकृष्ट करते हुए 01 जुलाई 2021 समस्त जिला मुख्यालयों में प्रदर्शन कर मुख्यमंत्री भूपेश बधेल को संबोधित मांग पत्र कलेक्टरों के माध्यम से प्रेषित् किया गया था। केन्द्र सरकार द्वारा 3 किश्तों के भुगतान पर रोक हटाने के बाद छत्तीसगढ़ राज्य में पूरे जुलाई माह में जिलों में मंत्री, सांसद, विधायकों के भ्रमण के दौरान स्मरण पत्र सौपने का निर्णय लिया गया था।

उसी क्रम में आज 23 जुलाई शुक्रवार को विधानसभा अध्यक्ष  चरणदास महंत को उनके पिता स्वर्गीय बिसाहू दास महंत जी के पुण्यतिथी कार्यक्रम चांपा के हनुमान धारा सभागार में संध के प्रांतीय उपाध्यक्ष व्ही.एस.परिहार एवं जिला शाखा अध्यक्ष रामकिशोर शुक्ला के नेतृत्व में स्मरण पत्र सौपकर 01 जुलाई 2019 से 01 जनवरी 2021 तक विगत् दो वर्षो से मंहगाई भत्ता से प्रदेश के कर्मचारियों के वंचित रहने के कारण प्रतिमाह के वेतन में 4-5 हजार रूपये आर्थिक क्षति होने से अवगत् कराया गया। ै।

जब राज्य में मंहगाई एक, बाजार एक, मूल्य एक फिर केन्द्र व राज्य सरकार के कर्मचारियों में मंहगाई भत्ता भेंदभाव को दूर करने हेतु प्रदेश के मुख्यमंत्री व वित्त मंत्री को स्मरण कराने का अनुरोध किया गया। उन्हें यह भी अवगत् कराया गया कि केन्द्रीय कर्मचारियों का मंहगाई भत्ता बढ़कर 17 से 28 प्रतिशत् हो गया है। जबकि छत्तीसगढ़ राज्य के शासकीय सेवकों 01 जनवरी 2019 से मात्र 12 प्रतिशत मंहगाई भत्ता मिल रहा है। राज्य के कर्मचारी केन्द्रीय कर्मचारियों से 16 प्रतिशत् पीछे हो गए है। उन्होने शीध्र शासन स्तर पर पहल करने व चर्चा करने का आश्वासन संध प्रतिनिधियों को दिया।

पुनः प्रांतीय अध्यक्ष विजय कुमार झा द्वारा स्मरण आंदोलन को आगामी 15 अगस्त तक बढ़ाए जाने का स्वागत् कार्यकारी प्रांताध्यक्ष अजय तिवारी, महामंत्री उमेश मुदलियार, संभागीय अध्यक्ष संजय शर्मा, पीएचई.संयोजक विमल चन्द्र कुण्डू, सुरेन्द्र त्रिपाठी, आलोक जाधव, संजय झड़बड़े, डाॅ. अरूंधति परिहार, रामचंद्र ताण्डी, मनोहर लोचनम्, नरेश वाढ़ेर, सुंदर यादव, रविराज पिल्ले, राजू मुदलियार, कुंदन साहू एस.पी. यदु, प्रकाश ठाकुर, सुनील शर्मा, दिनेश मिश्रा, प्रदीप उपाध्याय, विजय डागा, ए.जे.नायक, शेखर सिंह ठाकुर, कृष्णकांत मिश्रा, राजकुमार देशलहरे, दिनेश साहू, टार्जन गुप्ता, प्रवीण ढिढवंशी, आदि नेताओं ने करते हुए तत्काल मंहगाई भत्ता देने की मांग मुख्यमंत्री से की है।