निर्वाचक नामावली में दावा-आपत्ति के लिए जिम्मेदार अधिकारी तय नही: मारकण्डेय

रायपुर(खबर वारियर) आगामी नगरीय निकाय चुनाव के मद्देनजर आरंग विधानसभा क्षेत्र के पूर्व विधायक नवीन मारकण्डेय ने आरोप लगाया है कि सरकार के दबाव में नगर पंचायत कार्यालयों द्वारा जानबूझकर दावा-आपत्ति सम्बंधी दायित्वों की उपेक्षा की जा रही है। आज पर्यंत तक दावा-आपत्ति संबंधी मामलों के निराकरण हेतु जिम्मेदार अधिकारी तय नही किया जाना इसका सबसे बड़ा उदाहरण है।

मारकण्डेय निर्वाचक नामावली में दावा आपत्ति के लिए आम नागरिकों व भाजपा कार्यकर्ताओं संग नगर पंचायत कार्यालय मंदिरहसौद पहुँचे थे। कार्यालय पहुचने पर पाया गया कि मुख्य नगरपालिका अधिकारी दफ्तर से गायब थे जबकि निर्वाचन से पूर्व दावा आपत्ति के लिए सिर्फ 7 मई तक का समय दिया गया था।

निर्वाचन आयोग द्वारा स्पष्ट निर्देश है कि दावा-आपत्ति के निराकरण के लिए जिम्मेदार अधिकारी तय किये जाएं तथा वे अपनी उपस्थिति अनिवार्य रूप से सुनिश्चित करें।

नगरीय क्षेत्रों की स्थापना के छः वर्ष के बाद जानबूझकर लंबे समय तक  नही कराया गया निर्वाचन:

आरंग विधानसभा क्षेत्र के तीनों नए नगरीय निकायों मंदिरहसौद, चंदखुरी व समोदा में निर्वाचन आयोग के निर्देशों की बेधड़क अवहेलना की जा रही है। निर्वाचक नामावली में असंख्य गड़बड़ियां मिल रही हैं। कई मृत व्यक्तियों के नाम नहीं काटे गए हैं, अन्यत्र जाने वाले व्यक्तियों के नाम विलोपित नही हुए हैं साथ ही नए निर्वाचकों का नाम जुड़ना भी अपेक्षित है। जिसके लिए जिम्मेदार अधिकारियों को तय नहीं किये जाने की लापरवाही से आमजन एक ओर परेशान दिखे वहीं उनके बीच खासी नाराजगी भी देखी गयी।

नवीन मारकण्डेय ने आरोप लगाया कि मतदान को प्रभावित करने के उद्देश्य से जानबूझकर काँग्रेसी सरकार के दबाव में यह लापरवाही की जा रही है। उन्होंने दूरभाष पर एसडीएम से इस बात कर शिकायत की जिस पर उनके द्वारा कल से दावा-आपत्ति कार्य सुचारू रूप से कराए जाने का आश्वासन दिया गया।