मानसून बढ़ा आगे,11 जून को मुम्बई वर्षा की संभावना

रायपुर(khabarwarrior) भारत मे दक्षिण पश्चिम मॉनसून इस महीने की 11 तारीख को मुंबई पहुंचेगा। बंगाल की खाड़ी के ऊपर हवा के कम दबाव का क्षेत्र बन रहा है, जिससे मुंबई सहित महाराष्ट्र तट पर बारिश में बढोतरी होने का अनुमान है। भारतीय मौसम विज्ञान विभाग ने बताया है कि अतीत में यह देखा गया है कि जब बंगाल की खाडी में कम दबाव का क्षेत्र बनता है तो वर्षा में सक्रिय बढोतरी होती है।

मौसम विभाग के  ने कहा है कि यह एक सकारात्मक घटना है और इससे मानसून का आगे बढने में मदद मिलेगी। अनुमान है कि मानसून मुंबई के लिए सामान्य रूप से अनुमानित 11 जून तक पहुंच जाएगा।

इस बीच मानसून देश के कुछ और भागों में आगे बढ़ रहा है। यह दक्षिण भीतरी कर्नाटक, रायलसीमा के कुछ हिस्सों, तमिलनाडु के ज्यादातर भागों समूची दक्षिण पश्चिम बंगाल की खाड़ी और पश्चिम मध्य बंगाल की खाड़ी के कुछ हिस्सों में सक्रिय हो गया है।

पृथ्वी विज्ञान मंत्रालय ने बताया है कि दक्षिण-पश्चिम मॉनसून के मध्यवर्ती अरब सागर के कुछ भागों, गोवा, कोंकण के कुछ भागों, कर्नाटक के कुछ और हिस्सों, रायलसीमा, तमिलनाडु के शेष भागों, तटवर्ती आंध्र प्रदेश के कुछ भागों और पूर्वोत्तर राज्यों के कुछ हिस्सों में अगले दो या तीन दिन में आगे बढ़ने की अनुकूल स्थितियां बन गई है।

मंत्रालय के अनुसार दक्षिण-पश्चिम मॉनसून के बाद के दो दिनों में महाराष्ट्र, कर्नाटक, तटवर्ती आंध्र प्रदेश, तेलंगाना के कुछ भागों, बंगाल की खाड़ी के शेष भागों और उत्तर पूर्वी राज्यों, सिक्किम, ओड़ीसा के कुछ हिस्सों और पश्चिम बंगाल के गांगेय क्षेत्र में आगे बढ़ने की अनुकूल स्थितियां है।

मंत्रालय ने बताया है कि पूर्वी मध्यवर्ती बंगाल की खाड़ी में अगले 48 घंटे के दौरान हवा के कम दबाव का क्षेत्र बनने की संभावना है। इसके प्रभाव से ओडीसा, उत्तर तटवर्ती आंध्र प्रदेश और तेलंगाना में इस महीने की नौ से ग्यारह तारीख तक व्यापक वर्षा होने और एक-दो स्थानों पर बहुत तेज बारिश होने की आशंका है। दस और ग्यारह जून को विदर्भ, पश्चिम बंगाल के गांगेय क्षेत्र, गुजरात और दक्षिणी मध्य प्रदेश में एक-दो स्थानों पर भारी वर्षा होने का अनुमान व्यक्त किया गया है।