धर्म संसद के सबसे महान व्यक्तित्व स्वामी विवेकानंद – डॉ महंत

रायपुर(khabarwarrior)छत्तीसगढ़ विधानसभा अध्यक्ष डॉ चरणदास महंत ने  4 जुलाई को महान दार्शनिक, संत स्वामी विवेकानंद की 118 वीं पुण्यतिथि पर भावभीनी श्रद्धांजलि अर्पित की है।

डॉ महंत ने कहा कि, स्वामी विवेकानंद जी ने अपने छोटे से जीवनकाल में  पूरी दुनिया में भारतीय संस्कृति और अध्यात्म का डंका बजाया, आज भी उनके विचार हमारे जीवन में अनमोल मंत्र के रुप में काम आते हैं। स्वामी विवेकानन्द ने साल 1893 में शिकागो मे सबसे पहले पूरी दुनिया को भारत के धर्म और आध्यात्म के सार से परिचित कराया था।

उन्होंने अपनी अध्यात्मिक सोच से पूरी दुनिया को भारतीय संस्कृति, वेदों और शास्त्रों के ज्ञान से दुनिया के लोगों को परिचित कराया । जितना बड़ा संघर्ष होगा जीत उतनी ही शानदार होगी। उठो, जागो और तब तक नहीं रुको, जब तक लक्ष्य ना प्राप्त हो जाए जैसी प्रेरणा कालजयी साबित हुये हैं।