प्रदेश कांग्रेस अल्पसंख्यक विभाग ने वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक को सौंपा ज्ञापन

सट्टे-जुए, ड्रग्स व गाँजा जैसे अवैध कारोबार की गिरफ्त से युवा पीढ़ी को बर्बाद होने से बचाने का किया आग्रह

रायपुर(खबर वारियर)शहर में बढ़ रहे क्रिकेट सट्टे-जुएं, ड्रग्स व गांजा जैसे अवैध कारोबार पर कड़ी कार्यवाही के लिए आग्रह करते हुए इस पर रोक लगाने प्रदेश कांग्रेस अल्पसंख्यक विभाग द्वारा प्रदेश के चेयरमैन इम्तियाज़ हैदर के नेतृत्व में वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक को ज्ञापन सौंपा गया।

चेयरमैन इम्तियाज़ हैदर ने बताया कि की सट्टा क्रिकेट खेल प्रेमियों के लिए जितना मनोरंजन है उससे कहीं अधिक यह सटोरियों के लिए अवैध कमाई का जरिया बन गया है, सटोरिए एक संगठित गिरोह के रूप में काम कर रहे हैं जो युवाओ-नौजवानों को अधिक पैसा कमाने का लालच देकर गांजा व ड्रग्स जैसे नशीले पदार्थों का सेवन कराते हुए क्रिकेट मैच में सट्टा-जुआ खिलाने का काम कर रहे हैं जिसके कारण कई परिवार बर्बाद हो गए है और कई परिवार बर्बादी की कगार पर है। लंबी रकम सटोरियों से हारने के बाद कई नौजवानो ने पूर्व में आत्महत्या तक की है ।

इतना ही नही सट्टे में हारे हुए पैसे की वसूली के लिए सट्टा माफिया बाहुबल के सहारे पैसे वसूली हेतु किडनैपिंग,जानलेवा हमला,और हत्या तक कर चुके है ,हारने पर उन्हें ब्याज में पैसे देते हैं और फिर सट्टा खिलवाते है और ना लौटाने पर उनके घर के जेवर लेने व जमीन जायदाद तक अपने नाम कराने लगे हैं।

इस प्रकार नशा कराते हुए सट्टा खिलाकर कई परिवार अपने पुरखों की कमाई लुटा चुके है, मानसिक अवसाद में चले गए है एवं रास्ता भटक कर अपराध की राह पकड़ लेते है जिसके कारण सामाजिक ताना बाना दूषित हो रहा है

इसकी गिरफ्त में युवा पीढ़ी बर्बाद हो रही है आसानी से ड्रग्स व गांजा मिलने और सटोरियों के उपलब्ध हो जाने से युवा तेजी से इसका शिकार हो रहे हैं, जिसके कारण अपराधिक गतिविधियां बढ़ रही है इस पर सख्त कार्रवाई ना होने से युवा पीढ़ी पूरी तरह बर्बाद हो जाएगी।

इसमें प्रमुख रूप से चेयरमैन इम्तियाज़ हैदर , उपाध्यक्ष अरशद खान, रज्जन अक़ील खान, सकलैन कामदार, जिलाध्यक्ष रायपुर शहर परवेज़ अहमद, जिलाध्यक्ष रायपुर ग्रामीण रिज़वान हमीदी, जिलाध्यक्ष दुर्ग ग्रामीण फ़िरोज़ खान, प्रदेश प्रवक्ता विपुल जैन, अहमद मुख्तार, महासचिव हैदर अली, दलजीत सिंह,जुबेर आलम,अभिषेक शुक्ला, शहाबुद्दीन अली, जावेद नक़वी, इमरान खान, ज़िया अहमद, शाहिद क़ुरैशी, जुनैद खान, चाँद अहमद , मो. लाइक समेत अन्य कार्यकर्तागण उपस्थित थे।