गोबर से बना रहे गमले व मिट्टी के दीये, सब्जी का भी उत्पादन

बेमेतरा(खबर वारियर)- सुराजी गांव योजना नरवा, गरवा, घुरवा एवं बाड़ी के जिले में उत्साहजनक परिणाम सामने आ रहे हैं। गोठान को आजीविका ठौर के रुप में विकसित किया जा रहा है। गोठान समिति से महिला स्व-सहायता समूह जुड़कर आय अर्जित कर रहे हैं। समूह द्वारा साग-सब्जी का उत्पादन भी किया जा रहा है। गोबर से गमला एवं मिट्टी के दीये भी बनाए जा रहे हैं।

कलेक्टर शिव अनंत तायल ने बीते दिनों साजा ब्लाक के ग्राम टिपनी के गोठान का अवलोकन किया एवं गोठान समूह द्वारा संचालित गतिविधियों से अवगत हुए। ग्राम गोठान का निरीक्षण किया तथा सरकार की महत्वकांक्षी योजना नरवा, गरवा, घुरवा, बाड़ी के तहत गोधन न्याय योजना की जानकारी ली। इस दौरान जय महामाया महिला स्व-सहायता समूह द्वारा गोबर से बनाए जा रहे वर्मी कम्पोस्ट खाद, गोबर कंडा, गोबर से बने गमला का आदि का निरीक्षण किया। ग्राम गोठान में लो-बजट से बनाए जा रहे गोबर खाद, वर्मी खाद को समूह के द्वारा किए जा रहे अन्य कार्य के गतिविधियों की जानकारी ली गई।

गोधन न्याय योजना के तहत गोठान समिति द्वारा 70948 किलोग्राम गोबर खरीदी की जा चुकी, जिससे गोपालकों के मन में खुशी का महौल है। ग्राम चारवाहा सुखनंदन यादव ने 50,000 हजार रुपये का गोबर बेचकर अपनी आर्थिक स्थिति में काफी सुधार होने की बात बताई तथा छन्नाू यादव द्वारा भी आर्थिक तंगी दूर होने की बात कही गई। लखन लाल नेताम ने अपने घर की गोबर गोठान समिति में बेचकर अपनी बधो की पढ़ाई के लिए मोबाइल खरीद दिया, जिसमें उनके बधो आनलाईन पढ़ाई कर रहे हैं।

इसके साथ-साथ गोपालक हीरादास मारखण्डे, गीताराम साहू ने भी गोबर बेचकर अपनी आवश्यकताओं की चीजें खरीदी। शंकर गेंड्रे, महेतरू गेंड्रे, भगउराम साहू, शैलेन्द्र तिवारी सभी ने सरकार की इस योजना को काफी प्रभावशाली योजना बताते हुए, सरकार का आभार व्यक्त किया।

इस अवसर पर जिला पंचायत सीईओ रीता यादव, जनपद सीईओ क्रांति ध्रुर्वें, एसडीओ हंसराज साहू, एडीओ बंजारे एवं जनपद जिला अधिकारीगण सहित ग्राम पंचायत सरपंच नीतू कमलेश जांगड़े, सचिव अनुसुईया साहू, आरईओ बलवंत डड़सेना, समिति अध्यक्ष संजय वैष्णव उपस्थित थे।

नरवा, गरवा, घुरवा और बाड़ी योजना से बढ़ी आमदनी

नरवा, गरवा, घुरवा, बाड़ी अंतर्गत बाड़ी विकास कार्यक्रम के तहत भनसुली के किसान लखनराम निषाद अच्छी आमदनी कमा रहे हैं। इससे उनके घर की आर्थिक स्थिति सुधरने लगी है। विकासखण्ड बेमेतरा के ग्राम भनसूली निवासी लखनराम निषाद का उनके घर से लगे 1.50 एकड़ की एक बाड़ी है। वह अपनी बाड़ी में सब्जी की खेती करते आ रहे हैं, जिसका उपयोग वे अपने घर में करते थे। लेकिन राज्य शासन की महत्वाकांक्षी योजना नरवा, गरवा, घुरवा, बाड़ी अंतर्गत बाड़ी विकास कार्यक्रम के तहत उद्यानिकी विभाग के अधिकारियों के मार्गदर्शन एवं विभाग द्वारा प्रदान सब्जी बीज ने उनकी आमदनी बढ़ा दी है।

बाड़ी में पालक, मिर्ची, फूलगोभी, करेला, गिलकी लगाकर आज तखतराम निषाद घरेलू उपयोग के साथ-साथ स्थानीय बाजार में सब्जी का विक्रय कर मुनाफा कमा रहे हैं। किसान लखनराम निषाद ने बताया कि उन्हें अभी तक बाड़ी से 12 से 15 हजार रुपये आमदनी प्राप्त हो चुकी है। इसके उन्होंने मुख्यमंत्री की इस महत्वाकांक्षी योजना की तारीफ की है तथा विभाग के इस योजना से सभी कृषकों को लाभ लेने के लिए प्रेरित कर रहे हैं।