अमेरिका ने इस तरह बढ़ाया भारत की मदद का हांथ,

भारत में कोविड वैक्सीन निर्माण के लिए आवश्यक सामग्री पर प्रतिबंध हटाया

डेस्क(खबर वारियर)- अमेरिकी सरकार ने भारत में कोविड वैक्‍सीन निर्माताओं के लिए जरूरी कच्ची सामग्री के निर्यात पर लगा प्रतिबंध हटाने का फैसला किया है। देश में कोविड संक्रमण में तेज बढोतरी के बारे में राष्‍ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजित डोभाल और अमेरिका के राष्‍ट्रीय सुरक्षा सलाहकार जेक सुलिवान के बीच फोन पर हुई बातचीत के बाद यह निर्णय लिया गया। सुलिवान ने भारत के साथ अमेरिका की एकजुटता व्यक्त की। कई अमेरिकी सांसदों ने भी भारत में कोविड स्थिति को लेकर चिंता प्रकट की थी।

उन्‍होंने जो बाइडन प्रशासन पर भारत के लिए सहायता, वैक्‍सीन और अन्‍य जरूरी कच्‍ची सामग्री उपलब्ध कराने का दबाव बनाया था। अमेरिकी राष्‍ट्रपति कार्यालय व्‍हाइट हाउस ने कहा कि अमेरिका ने भारत में कोविड शील्‍ड निर्माण के लिए जरूरी विशेष कच्‍ची सामग्री के स्रोतों की पहचान कर ली है जिसे जल्‍द ही भारत को उपलब्‍ध कराया जाएगा।

राष्‍ट्रपति जो बाइडेन ने एक ट्वीट में कहा कि अमेरिका कोरोना महामारी से निपटने में भारत की मदद के लिये ठीक उसी तरह तत्‍पर है, जैसे महामारी के शुरूआती दौर में अमेरिकी अस्‍पतालों पर दबाव बढ़़ने पर भारत ने मदद की थी।

अप्रैल की शुरूआत में सीरम इंस्‍टीट्यूट ऑफ इंडिया के मुख्‍य कार्यकारी अधिकारी अदार पूनावाला ने अमेरिका के राष्‍ट्रपति से कच्‍ची सामग्री के निर्यात पर लगा प्रतिबंध हटाने का अनुरोध किया था। सीरम इंस्‍टीट्यूट अभी एस्‍ट्राजेनेका-ऑक्‍फोर्ड की कोविशील्‍ड वैक्‍सीन बना रहा है।