मंदिरालय खुलने से देवालय खुलने की उम्मीदें बढ़ी,

पुजारी परिषद् ने की धार्मिक संस्थाऐं तत्काल खोलने की मांग

रायपुर(khabar warrior)- छत्तीसगढ़ राज्य में जन सहयोग व प्रशासन के अथक प्रयास से निरंतर कोरोना संक्रमण की दरों व मृत्यु दर कम होने के कारण लाॅक डाउन लगभग वापस लेकर अब अन लाॅक कर दिया गया है। प्रदेश में मंदिरालय भी कोरोना प्रोटोकाल का पालन करते हुए खोल दिए गए है। प्रदेश के अनेक मंदिरों के पुजारी आर्थिक मानसिक प्रताड़ना व परेशानी के दौर में विगत् एक डेढ़ वर्ष से गुजर रहे है।

राजधानी के पुजारी परिषद् के प्रतिनिधि महामाया मंदिर के आचार्य मनोज शुक्ला, दंतेश्वरी मंदिर खोखोपारा के आचार्य डाॅ. आशुतोष झा, सतबहिनियां माता मंदिर के आचार्य पं. विजय कुमार झा एवं पं.उमेश पाण्डेय ने प्रतिदिन अन्य संस्थानों, मदिरालय, माॅल बाजार आदि को निश्चित समय निर्धारित कर खोलने की अनुमति प्रदान की गई है वैसे ही प्रदेश के मंदिर, मस्जिद्, गिरजाधर, चर्च, व गुरूद्वारा को आम जनता के लिए कम से कम प्रातः 09 बजे 12 बजे तक तथा संध्या 07 बजे से 09 बजे तक खोलने की अनुमति प्रदान करने की मांग मुख्यमंत्री भूपेश बधेल से की है।

देश व प्रदेश में कोई भी महामारी वं संकट धार्मिक पूजा, पाठ, दुआओं से दूर होकर नष्ट होते है, यह हजारों वर्ष पुराने उदाहरण सभी धर्मो में पाए गए है। इसलिए जनता को पूजा, पाठ, दुआ से वंचित न रखा न जावे।