वीडियो में दिख रहे उपद्रवी तत्वों की पहचान कर करें सख्त कार्रवाई-सीएम बघेल

कवर्धा (खबर वारियर) मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने आज रायपुर स्थित अपने निवास कार्यालय में आयोजित उच्च स्तरीय बैठक में कवर्धा की कानून और व्यवस्था की स्थिति की समीक्षा की। बैठक में गृह मंत्री ताम्रध्वज साहू, वन मंत्री मोहम्मद अकबर, कृषि मंत्री रविन्द्र चौबे, मुख्य सचिव अमिताभ जैन, पुलिस महानिदेशक डी.एम. अवस्थी, अपर मुख्य सचिव सुब्रत साहू, रायपुर रेंज के पुलिस महानिरीक्षक आनंद छाबड़ा तथा वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से कवर्धा जिले के प्रभारी मंत्री एवं स्वास्थ्य मंत्री  टी.एस. सिंहदेव, दुर्ग रेंज के पुलिस महानिरीक्षक  विवेकानंद सिन्हा, कवर्धा के कलेक्टर  रमेश कुमार शर्मा और पुलिस अधीक्षक  मोहित गर्ग शामिल हुए।

मुख्यमंत्री बघेल ने कवर्धा के कलेक्टर और पुलिस अधीक्षक को कवर्धा में 5 अक्टूबर को रैली के दौरान हुई घटना की जांच करने और घटना के दोषियों के विरूद्ध सख्त से सख्त कार्रवाई करने के निर्देश दिए।

उन्होंने कहा कि शांति व्यवस्था और सामाजिक सौहार्द्र को बिगाड़ने की कोशिशों को बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। उन्होंने शहर में कानून और व्यवस्था की स्थिति की लगातार समीक्षा करने, शहर के संवेदनशील क्षेत्रों में लगातार पेट्रोलिंग करने, उपद्रवी तत्वों पर निगरानी रखने और समय-समय पर शांति समिति की बैठकें आयोजित करने के निर्देश अधिकारियों को दिए। उन्होंने निर्देश दिये कि बिना किसी भेदभाव के वीडियो में दिख रहे उपद्रवियों की पहचान करे और उन पर सख़्त कार्यवाही करे।

गृह मंत्री ताम्रध्वज साहू ने कहा कि इस घटना के दौरान कवर्धा में बाहर से आने वाले लोगों को चिन्हित किया जाना चाहिए। उन्होंने शहर में नियमित पेट्रोलिंग करने के निर्देश दिए।

वन मंत्री मोहम्मद अकबर ने कहा कि कवर्धा में सभी समुदाय के लोगों के बीच हमेशा से सदभाव और भाईचारा रहा है। कवर्धा में बाहर से आए लोगों द्वारा तोड़-फोड़ की गई। उन्होंने कहा कि कवर्धा के धार्मिक स्थलों सहित प्रमुख स्थानों पर सीसी टीव्ही लगे हैं। उनके फुटेज देखकर उपद्रव करने वाले लोगों की पहचान की जाए।

कलेक्टर कवर्धा ने बताया कि कवर्धा शहर में स्थिति नियंत्रण में और शांति पूर्ण है। गुरूवार को सर्व समाज प्रमुखों, कवर्धा चेम्बर ऑफ कॉमर्स तथा व्यापारी संगठनों की बैठक आयोजित की गई। जिसमें सभी लोगों ने घटना की निंदा की है।