छत्तीसगढ़

गृह ग्राम पहुंचने पर धान से तौले गए जागेश्वर जुगनू चन्द्राकर

पुरखों की प्रेरणा, बुजुर्गों के आशीर्वाद और युवाओं के साथ ने मुझे किया संबल प्रदान : जुगनू

महासमुंद (खबर वारियर)  शरद पूर्णिमा के अवसर पर महासमुंद जिला पंचायत सदस्य और किसान मजदूर महासंघ के संचालक मंडल सदस्य जागेश्वर जुगनू चन्द्राकर का उनके गृह ग्राम बकमा आगमन पर धान से तौल कर ग्रामवासियों ने आत्मीय स्वागत किया।

इस अवसर पर जागेश्वर जुगनू चन्द्राकर ने अपने बचपन को याद करते हुए कहा कि पुरखों की प्रेरणा से ही अन्नदाता किसानों की वाजिब हक के लिए संघर्ष करने की हिम्मत आयी है, जिसके लिए जहाँ बुजुर्गों का आशीर्वाद मिला वहीं युवा साथियों के सहयोग से हर लोकहितकारी संघर्ष के लिए सम्बल मिलता है और यही सम्बल ने राजिम में आयोजित किसान महापंचायत को व्यापक सफल बनाने में महत्वपूर्ण योगदान दिया है।

इस बीच किसान आंदोलन के अपने युवा साथी तेजराम विद्रोही जो कि किसान संगठन के काम से आंध्र प्रदेश में होने के कारण कार्यक्रम में शामिल नही हो पाया उनका जिक्र करते हुए कहा कि विद्रोही जैसा संगठन के लिए जीवट व्यक्तित्व का साथ मिलने से अन्नदाता किसानों और मेहनतकश वर्ग के लिए संघर्ष करने की  निरंतरता बनी रहती है।

ग्राम प्रमुख पुरुषोत्तम चंद्राकर, अंबिका चंद्राकर ,गंगा प्रसाद निर्मलकर, यशवंत चंद्राकर, गोपाल ध्रुव,सरोज यादव ,रोहित साहू ,कुमार साहू ,भुनेश्वर चंद्राकर ,मिथिलेश चंद्राकर, राकेश चंद्राकर, बल्ला ध्रुव, रिंकू सेन, गणपत बघेल, द्वारिका चंद्राकर, राजू सेन, हरीश चंद्र ध्रुव, प्रीतम यादव, नरेंद्र चंद्राकर, मन्नू ध्रुव, अशोक ध्रुव, घनश्याम (डब्लू) चंद्राकर, विमला यादव ,खपरा खड़िया ,वैशाखइन ध्रुव, तुलसी यादव, गौरी ध्रुव, कमला सेन ,डूमर निर्भरकर, आदि ग्राम की बुजुर्ग ,युवा ,महिला सभी कार्यक्रम में शामिल थे।

Related Articles

Back to top button