प्रदेश भर के शिवालयों में हर-हर महादेव के साथ गुंजायमान हुआ DA और HRA की मांग

केंद्र के बराबर DA और सातवें वेतनमान के अनुरूप HRA की मांग को लेकर प्रदेश का शिक्षक संवर्ग अनिश्चितकालीन आंदोलन पर,आज पहला दिन,

26 जुलाई को प्रदेश भर के विकासखंडों में SDM और तहसीलदार को सौंपा जायेगा ज्ञापन

रायपुर (खबर वारियर) केंद्र के बराबर मंहगाई भत्ता और सातवें वेतनमान के अनुरूप गृहभाड़ा भत्ता की मांग को लेकर प्रदेश के समस्त अधिकारी,कर्मचारी व शिक्षक आंदोलनरत है। शालेय शिक्षक संघ के प्रांताध्यक्ष वीरेंद्र दुबे, टीचर एसोसिएशन के प्रांताध्यक्ष संजय शर्मा तथा नवीन शिक्षक संघ के प्रांताध्यक्ष विकास राजपूत के नेतृत्व में प्रदेश का शिक्षक संवर्ग 25 जुलाई से अनिश्चितकालीन आंदोलन पर हैं,जबकि अधिकारी कर्मचारी फेडरेशन 5 दिन आंदोलन पर हैं।

निष्पक्ष बैनर तले इन संगठनों ने आज अनिश्चितकालीन आंदोलन की धमाकेदार शुरुआत की गई। श्रावण सोमवार के पावन मौके पर प्रदेश के समस्त शिक्षकों ने आज हर विकासखंड मुख्यालय के शिवालयों में जलाभिषेक कर इसकी शुरुआत की गई। आज हर शिवालय से हर हर महादेव के साथ 34%DA और सातवें वेतनमान के अनुरूप HRA की मांग गूंज उठी।

प्रदेश के कर्मचारियों को विगत 3 वर्ष से बघेल सरकार ने केंद्र के बराबर इन्हें मंहगाई भत्ता प्रदान नही किये है तथा HRA भी अभी छठवें वेतनमान के बराबर ही दी जा रही है जिससे प्रदेश के समस्त कर्मचारियो में भारी आक्रोश है।जिसकी परिणीति प्रदेश के समस्त अधिकारी कर्मचारी आंदोलनरत हैं।

शालेय शिक्षक संघ के प्रांताध्यक्ष वीरेंद्र दुबे ने कर्मचारियों की इस उपेक्षा की निंदा करते हुए कहा कि यह प्रदेश कर्मचारियों के इतिहास में पहली बार हुआ है कि DA जैसी मांग के लिए आज प्रदेश का कर्मचारी सड़क पर है।

आज प्रदेश के समस्त स्कूलों में तालाबंदी जैसी स्थिति रही,कही कही स्कूल सिर्फ संविदा कर्मियों के भरोसे ही केवल खुली पर पढ़ाई ठप्प रही। बच्चों को मध्यान्ह भोजन आज नसीब नही हुआ।प्रदेश के सभी स्कूलों से बच्चे केवल स्कूल जाकर तुरंत वापस आ गए क्योंकि किसी भी स्कूल में कोई भी शिक्षक नही था।

प्रांतीय महासचिव धर्मेश शर्मा, कार्यकारी प्रांताध्यक्ष चंद्रशेखर तिवारी और प्रदेश मीडिया प्रभारी जितेंद्र शर्मा ने कहा कि केंद्र के बराबर DA और सातवें वेतनमान के अनुरूप HRA प्रत्येक अधिकारी और कर्मचारियो का अधिकार है। देश मे केवल छत्तीसगढ़ ही एक ऐसा राज्य है जहाँ कर्मचारियों को इस तरह नजरअंदाज किया जा रहा है। केंद्र के बराबर DA और HRA की घोषणा तत्काल होना चाहिए।

प्रदेश के समस्त प्रान्त,जिला व ब्लाक पदाधिकारियों के नेतृत्व में आज जलाभिषेक कर DA और HRA की मांग बुलंद किया गया जिनमे प्रांतीय कार्यकारी अध्यक्ष चंद्रशेखर तिवारी,प्रांतीय महासचिव धर्मेश शर्मा, प्रांतीय उपाध्यक्ष सुनील सिंह,डॉ.सांत्वना ठाकुर,विष्णु शर्मा,सहसचिव सत्येंद्र सिंह, प्रांतीय मीडिया प्रभारी जितेन्द्र शर्मा,सन्गठन मंत्री विवेक शर्मा,प्रांतीय प्रवक्ता गजराज सिंह, संगठन सचिव जितेंद्र गजेंद्र,राजेश शर्मा, घनश्याम पटेल,अतुल अवस्थी,अजय वर्मा,गोविंद मिश्रा जिलाध्यक्षगण प्रहलाद जैन,शिवेंद्र चंद्रवंशी, सन्तोष मिश्रा,दिनेश राजपूत, कुलदीप सिंह,शैलेष सिंह, प्रदीप पांडेय, रवि मिश्रा, संतोष शुक्ला, विनय सिंह, हिमन कोर्राम, दीपक वेंताल, भोजराज पटेल,भानु प्रताप डहरिया,यादवेंद्र दुबे, उपेंद्र सिंह,जोगेंद्र यादव,विनय सिंह, सर्वजीत पाठक, ओमप्रकाश खैरवार,कैलाश रामटेके,कृष्णराज पांडेय,,पवन दुबे,करनैल सिंह,श्री मती शशि कठोलिया,अब्दुल आसिफ खान,विक्रम राजपूत ,गौतम शर्मा, मारुति शर्मा,अमित सिन्हा,द्वारिका भारद्वाज,अशोक देशमुख,तिलक सेन,विजय बेलचंदन आदि ने समर्थन किया।