कोरोना से मौत के बाद परिजनों ने शव लेने से किया इन्कार,दो दिन तक इंतजार के बाद प्रशासन ने किया अंतिम संस्कार, तहसीलदार ने दी मुखाग्नि

शुजालपुर/मध्य प्रदेश(खबर वारियर) मध्य प्रदेश में कोरोना से संक्रमितों की संख्या लगातार बढ़ती ही जा रही है,मृतकों की संख्या भी लगातार बढ़ती ही जा रही है।कोरोना का खौफ इतना है कि परिजन मृतक का शव लेने तक से  इनकार कर दिया।

एमपी के सुजालपुर निवासी प्रेम सिंह मेवाड़ा कोरोना से संक्रमित मरीज थे,जिनका इलाज के दौरान मृत्यु हो जाने के बाद उसके बेटे संदीप मेवाड़ा और परिवार वालों ने मृतक की बॉडी लेने से मना कर दिया, तथा कोई भी बॉडी उठाने और अंतिम संस्कार के लिए तैयार नहीं हुआ, तब तहसीलदार बैरागढ गुलाब सिंह मेवाड़ ने कोरोना संक्रमित मृतक प्रेम सिंह मेवाड़ा का अंतिम संस्कार कर मानवता का सच्चा उदाहरण प्रस्तुत किया ।

विगत 2 दिन से प्रेम सिंह मेवाड़ा का शव मरचुरी में रखा रहा उनका परिवार ने शव लेने से मना कर  दिया, और जिला प्रशासन से ही अंतिम संस्कार करने के लिए दबाब बनाता रहा,और अंतिम समय तक शव को लेने से मना कर दिया। जबकि जिला प्रशासन ने कोरोना प्रोटोकॉल के अनुसार सारी व्यवस्था कर दी थी।

पीपीई किट, सेनेटाइजर ,ग्लब्स देने के बाद भी मृतक के पुत्र संदीप मेवाड़ा ने मुखग्नि देने से मना कर दिया। उनके साथ मृतक की पत्नी और उनके साले भी साथ थे।

आज दोपहर सब व्यवस्था होने के बाद जब परिवार ने अंतिम संस्कार करने से मना कर दिया तो तहसीलदार गुलाब सिंह बघेल ने मृतक को मुखाग्नि देकर मानवता की मिसाल प्रस्तुत की है।

कलेक्टर तरुण पिथोडे ने इस नेक व उत्तम कार्य के लिए तहसीलदार को शाबासी के सांथ प्रशंसा की।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *