अपने ही माँ और बहन को उतारा मौत के घाट, सामने आयी पूरी बात

राजनांदगांव(ख़बर वारियर)- छुईखदान ब्लॉक के ग्राम जाेम में मां-बेटी की निर्मम हत्या की गुत्थी को पुलिस ने दस घंटे के भीतर ही सुलझा लिया है। पुलिस ने मंगलवार की रात आरोपित बेटे हरियर जंघेल को गिरफ्तार किया है, जिसने बहन के चरित्र पर संदेह कर घर में सो रही मां और बहन की हत्या कर दी थी। बुधवार को पुलिस ने आरोपित हरियर को न्यायालय में पेशकर जेल भेज दिया है। आरोपित की निशानदेही में पुलिस ने पाना बरामद किया है। जिससे हरियर ने मां-बहन की हत्या की थी।

अज्ञात आरोपित के खिलाफ अपराध दर्ज कर पुलिस मामले की विवेचना कर रही थी। इस बीच कुछ ग्रामीणों ने पुलिस को बताया कि मृतिका चंद्रिका अपने पति को छोड़कर मायके में मां कुंजबाई के साथ ही रहती थी। चंद्रिका का एक दूर का भाई है, जो कभी-कभी उनके घर आता था। चंद्रिका के चरित्र में संदेह को लेकर कई बार वाद-विवाद भी करता था। इस जानकारी के बाद पुलिस ने संदेह के आधार पर हरियर जंघेल को हिरासत में लिया। उससे सख्ती से पूछताछ की गई। जिसमें हरियर ने जुर्म कबूल कर बताया कि चंद्रिका के साथ उसका विवाद हुआ था।

ऐसे दिया आरोपी ने हत्या को अंजाम 

घटना सोम- मंगलवार की दरमियानी रात की है। जब कुंज बाई जंघेल 70 और चंद्रिका बाई 40 घर में सो रही थी। तभी हरियर जंघेल 30 जो चंद्रिका का रिश्ते में भाई है। उसने दोनों की लोहे के पाना से सिर पर ताबड़तोड़ हमला कर दी। दूसरे दिन मंगलवार की सुबह पड़ाेसियों ने दोनों की खून से लथपथ लाश घर के आंगन में देखी, जिसके बाद ग्रामीणों ने पुलिस को हत्या की सूचना दी। मौके पर पहुंची पुलिस ने शव बरामद कर पड़ोसी ग्रामीणों से पूछताछ भी की, लेकिन आरोपित का कुछ पता नहीं चला।

घटना वाली रात वो घर आया था, तब चंद्रिका के साथ उसका विवाद भी हुआ। गुस्से में आकर आरोपित हरियर ने घर में रखे लोहे के पाना से चंद्रिका के सिर पर जानलेवा हमला कर दिया। उसकी चीख सुनकर मां कुंजबाई उठ गई। इसके बाद आरोपित हरियर ने मां के सिर पर भी पाना से ताबड़तोड़ हमला कर दिया, जिससे दोनों की मौके पर ही मौत हो गई। आरोपित हरियर ने पाना को घर की आलमारी के नीचे छिपा दिया और वहां से फरार हो गया। पुलिस ने मंगलवार की देर रात आरोपित की निशानदेही पर हत्या में प्रयुक्त रक्तरंजित पाना को बरामद कर लिया हैं।