स्कूल कालेज खोलने से पहले शिक्षकों व कर्मचारियों को लगे कोरोना का टीका

रायपुर(खबर वारियर)- छत्तीसगढ़ प्रदेश तृतीय वर्ग शासकीय कर्मचारी संघ ने प्रदेश एवं देश में निरंतर कोरोना के घटते प्रकरणों पर संतोष व्यक्त करते हुए वर्षो से बंद शासकीय शालाओं को 15 फरवरी से खोलने के राज्य शासन के मंत्रि परिषद के निर्णय का स्वागत करते हुए मुख्यमंत्री भूपेश बघेल एवं स्वास्थ्य मंत्री टी एस सिंहदेव से अन्य राज्यों या प्रदेश के कुछ जिलों में स्कूल खोलने और उसके बाद कोरोनावायरस की घटना को दृष्टिगत रखते हुए स्कूल खोलते समय शिक्षकों व शाला के कर्मचारियों को करोना बचाव हेतु वैक्सीन टीकाकरण करने की मांग की है। शिक्षकों व स्टाफ के बाद धीरे-धीरे बच्चों का भी टीकाकरण किया जाना उचित होगा अन्यथा यह निर्णय खतरा से खाली नहीं होगा।

संघ के प्रदेश अध्यक्ष विजय कुमार झा एवं जिला शाखा अध्यक्ष इदरीश खान ने कहा कि आज भूपेश बघेल मुख्यमंत्री की अध्यक्षता में संपन्न छत्तीसगढ़ राज्य मंत्रिपरिषद की बैठक में अनेक जन हितैषी निर्णय के साथ-साथ 15 फरवरी सोमवार से शालाओं को खोलने का भी निर्णय लिया गया है मंत्रिपरिषद के निर्णय के तत्काल बाद स्कूल शिक्षा विभाग मंत्रालय ने तत्काल के आदेश भी प्रसारित कर दिए हैं। आदेश में केंद्र सरकार के करोना संबंधी परामर्श एवं राज्य सरकार के कोविड-19 के निर्देशों का पालन करते हुए स्कूल खोलने का आदेश जारी किया गया है किंतु प्रदेश में तमाम सुरक्षा व्यवस्था के बाद भी कोरोना प्रकरण व मृत्यु लगातार जारी है ।

ऐसी स्थिति में केवल मास्क सैनिटाइजर हैंडग्लोब्स से शिक्षक व बच्चों को सुरक्षित रख पाना संभव नहीं होगा। ऐसी स्थिति में प्रदेश में जारी पुलिस व स्वास्थ्य विभाग प्रशासनिक अधिकारी कर्मचारियों को वैक्सीन टीकाकरण किया गया है उसी प्रकार प्रदेश के शिक्षक शालाओं में कार्यरत लिपिक भृत्य स्कूल सफाई कर्मचारी वाहन चालक आदि सभी सेवकों को भी कोरोना से सुरक्षा के लिए टीकाकरण कराया जाना पालक एवं बालक हित में तथा राज्य हित में उचित होगा संघ के कार्यकारी अध्यक्ष अजय तिवारी महामंत्री उमेश मुदलियार संभागीय अध्यक्ष संजय शर्मा प्रांतीय सचिव नरेश बाढ़ेर रविराज पिल्ले रामचंद्र टांण्डी सुरेंद्र त्रिपाठी विमल चंद कुंडू दिनेश मिश्रा सीएल दुबे बीपी कुरील आलोक जाधव डॉ अरुंधति परिहार ज्ञानेश झा आदि नेताओं ने शालाओं के शासकीय सेवकों व कर्मचारियों को कोरोना वैक्सीन टीकाकरण करने की मांग बालक बालक एवं शाला हित में मुख्यमंत्री व स्वास्थ्य मंत्री से की है.