16 प्रतिशत् मंहगाई भत्ता के लिए मंत्रालय-संचालनालय सहित पूरे प्रदेश में हुआ प्रदर्शन, अगस्त में देंगे धरना

रायपुर(khabar warrior)- छत्तीसगढ़ कर्मचारी अधिकारी फेडरेशन के आव्हान छत्तीसगढ़ राज्य के समस्त जिला मुख्यालयों में भोजनावकाश में जंगी प्रदर्शन कर 01 जुलाई 2019 से लंबित 16 प्रतिशत् मंहगाई भत्ता के शीध्र भुगतान करने हेतु मुख्यमंत्री  भूपेश बधेल को संबोधित मांग पत्र जिलों के कलेक्टरों के माध्यम से प्रेषित् किया गया। प्रदेश के सभी जिलों में व संभागीय मुख्यालयों में जंगी प्रदर्शन किया गया। राजधानी के कर्मचारी कलेक्टोरेट रायपुर में तथा मंत्रालय संचालनालय के कर्मचारियों द्वारा मंत्रालय में प्रदर्शन कर मुख्य सचिव को ज्ञापन सौपा गया। यदि प्रदर्शन व मांगपत्र सौपने के बाद भी सरकार मंहगाई भत्ता का भुगतान नहीं करती है तो आगामी अगस्त मांह में धरना, अनशन किया जावेगा।

छ.ग. कर्मचारी अधिकारी फेडरेशन के संयोजक कमल वर्मा एवं प्रमुख प्रवक्ता विजय कुमार झा ने बताया है कि पूर्व निर्धारित कार्यक्रम अनुसार पूरे प्रदेश में मंगलवार को भोजनावकाश में अभूतपूर्व प्रदर्शन किया गया। कर्मचारियों में आक्रोष है कि केन्द्र सरकार द्वारा 03 किश्त क्रमशः 01 जनवरी 2020, 01 जुलाई 2020 तथा 01 जनवरी 2021 को जारी करने के बाद केन्द्रीय कर्मचारियों का मंहगाई भत्ता बढ़कर 17 से 28 प्रतिशत् हो गया है।

जबकि छत्तीसगढ़ राज्य के शासकीय सेवकों 01 जनवरी 2019 से मात्र 12 प्रतिशत मंहगाई भत्ता मिल रहा है। राज्य के कर्मचारी केन्द्रीय कर्मचारियों से 16 प्रतिशत् पीछे हो गए है। प्रदेश के कर्मचारी 01 जुलाई 2019 से 01 जनवरी 2021 तक विगत् दो वर्षो से मंहगाई भत्ता से वंचित है। इसके कारण प्रतिमाह के वेतन में 4-5 हजार रूपये आर्थिक क्षति हो रही है। जब राज्य में मंहगाई एक, बाजार एक, मूल्य एक फिर केन्द्र व राज्य सरकार के कर्मचारियों में मंहगाई भत्ता भेंदभाव क्यों किया जाता है।

इससे आक्रोषित कर्मचारी सरकार का ध्यान आकृष्ट करने हेतु आज प्रदर्शन कर मुख्यमंत्री को संबोधित मांग पत्र सौपकर शीध्र निर्णय लिए जाने की मांग किए है। प्रदेश के सभी जिलों में फेडरेशन के जिला संयोजक व सभी मान्यता प्राप्त संगठनों के जिला अध्यक्ष के नेतृत्व में प्रदर्शन किया गया। बिलासपुर, बस्तर, अंबिकापुर, दुर्ग, संभागों संहित रायपुर राजधानी में जंगी प्रदर्शन किया गया। मंत्रालय संचालनालय में संयोजक कमल वर्मा, रामसागर कोसले, अध्यक्ष विभागाध्यक्ष कार्यालय, सत्येन्द्र देवाॅगन, आलोक वशिष्ठ, सुभाष श्रीवास्तव, सुरेश ढीढी, देवलाल भारती, इमरत लाल केंवट के नेतृत्व में प्रदर्शन कर मुख्य सचिव कार्यालय से उप सचिव जयश्री जैन को ज्ञापन सौपा गया।

इसी प्रकार रायपुर राज्धानी में प्रमुख प्रवक्ता विजय कुमार झा, जिला संयोजक इदरीश खाॅन, संभागीय संयोजक अजय तिवारी, आर.के.रिछारिया, ओंकार सिंह, पंकज पाण्डेय, यशवंत वर्मा, चन्द्रशेखर तिवारी, मूलचंद शर्मा, राकेश शर्मा, रमेश ठाकुर, व्ही.पी.तिवारी, राजेश सोनी, कुमार वर्मा, अश्वनी चेलक, उमेश मुदलियार, दिलीप झा, रामचंद्र ताण्डी, फारूख कादरी, मुक्तेश्वर देवाॅगन पद्मेश शर्मा, संजय झड़बड़े, युगल तिवारी, सुरेन्द्र त्रिपाठी, विमलचंद्र कुण्डू, आलोक जाधव, संजय सक्सेना, राज कुमार अवस्थी, डी.एल.चैधरी, के.व्ही.आयंगर, वीरेन्द्र नामदेव पेंशनर्स संध अध्यक्ष, राज कुमार देशलहरे, दीपक श्रीवासष् आलोक नागपुरे, रविकांत डोए, प्रकाश ठाकुर, सहित सभी मान्यता प्राप्त संगठनों के प्रांताध्यक्ष, महामंत्री शामिल थे। कलेक्टर की अनुपस्थिति में अंकिता गर्ग नगर दण्डाधिकारी को ज्ञापन सौपा गया।