खदान बस्ती में बहुमंजिला इमारत का माकपा ने किया विरोध,कहा:स्थाई पट्टे का वादा निभाए भूपेश सरकार

रायपुर (खबर वारियर) मार्क्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी ने डंगनिया खदान बस्ती में विगत 25 सालों से अधिक समय से बसे झुग्गी वासियों को स्थाई पट्टा दिए जाने की मांग करते हुए यहां उन्हे हटाकर बहुमंजिला इमारत बनाने के निगम के प्रस्तावों का जोरदार विरोध किया ।

माकपा की रायपुर जिला समिति की और से आज इस मांग को लेकर डंगनिया, लाखेनगर होते हुए रैली निकाली गई व निगम के जोन क्रमांक 5 कार्यालय पर जबरदस्त विरोध प्रदर्शन किया गया ।

यहां प्रदर्शनकारियों को सम्बोधित करते हुए माकपा के राज्य सचिव मंडल सदस्य कामरेड धर्मराज महापात्र ने कहा कि डंगनिया खदान बस्ती को अपने पसीने और मेहनत से आज की स्थिति तक रहने लायक बनाने वाले झुग्गी वासियों को उजाड़कर बहुमंजिला इमारत की भाजपा सरकार के समय से की गई कोशिश का विगत 15 साल से लोगों ने विरोध किया है ।

कांग्रेस ने चुनाव घोषणा पत्र में झुग्गी वासियों को पट्टा का वायदा किया था उसे पूरा करने की बजाय अगर वह भी भाजपा के प्रस्ताव को आगे बढ़ाने का प्रयास करेगी तो उसका भी पुरजोर विरोध किया जायेगा ।

उन्होंने बस्ती के लोगों को पट्टे के साथ ही प्रधान मंत्री आवास योजना के तहत सहयोग करने की भी मांग की ताकि वे अपना घर खुद बना सकें । उन्होंने इस बेशकीमती जगह पर लगी गिद्ध निगाह पर आड़े हाथ हुए कहा कि निगम पर काबिज लोगों को यह समझना होगा कि गरीब की आह अच्छों अच्छों को भस्म कर देती है ।

जिला सचिव कामरेड प्रदीप गभने व कामरेड एस सी भट्टाचार्य ने भी निगम के फैसलों पर आपत्ति दर्ज करते हुए गरीबों को उजाड़ने का विरोध किया । उन्होंने साथ ही माकपा के देश भर में चल रहे अभियानों की जानकारी देते हुए सबकी एकता पर जोर दिया । सभा को कामरेड शीतल पटेल ने भी संबोधित किया । इसके बाद जोन कमिश्नर को मुख्यमंत्री व महापौर के नाम ज्ञापन सौपा गया । ज्ञापन में पार्टी ने बस्ती वासियों को स्थाई पट्टे के साथ ही, अमृत जल योजना से पेयजल उपलब्ध कराने, सड़क व स्वास्थ सुविधा उपलब्ध कराने, रोजगार गारंटी योजना को शहरी क्षेत्र में भी लागू करने और मंहगाई पर नियंत्रण के लिए कदमों की भी मांग की ।

आज के इस प्रदर्शन का नेतृत्व प्रमुख रूप से प्रदीप गभने, शीतल पटेल, एस सी भट्टाचार्य, साजिद रजा, मनोज देवांगन, सुरेश देवांगन, अजय ठाकुर, दीपक बरबेरकर, गोदावरी बाई, पुनाऊ राम तारक, भाऊ राम वर्मा, पुस्पा बाई, श्रुति प्रजापति, वीरा सिंह चौहान, राहुल यादव, भावेश, राम वर्मा, तिलक वर्मा, राधे प्रजापति, खेमिन बाई, विमला साहू, दिलीप साहू आदि ने किया।
माकपा ने इन मांगों पर कार्यवाही न होने पर आगे भी आंदोलन जारी रखने की चेतावनी दी ।